पेट्रोल पंप पर चोरी का मास्टरमाइंड कर्नाटक से गिरफ्तार

11
SHARE

चिप से पेट्रोल पंप में चोरी का मुख्य आरोपी प्रशांत को ठाणे पुलिस ने कर्नाटक के हुबली से अरेस्ट कर लिया है। इस पर पेट्रोल पंपों को ऐसी इलेक्ट्रॉनिक चिप सप्लाई करने का आरोप है, जिनके सहारे पेट्रोल की चोरी की जाती थी। आज इसे ठाणे लाया जाएगा।

ठाणे क्राइम ब्रांच के मुताबिक, 56 साल के प्रशांत नूलकार को कर्नाटक के हुबली से अरेस्ट किया गया है। पुलिस ने बताया, “प्रशांत की बनाई चिप को पेट्रोल पंप में लगाने के बाद हर लीटर में 20 एमएल पेट्रोल कम आता है। इस तरह एक पेट्रोल पंप पर हर दिन सैकड़ों लीटर तेल की चोरी आसानी से हो जाती है। प्रशांत पेट्रोल पंपों के लिए इलेक्ट्रॉनिक चिप बनाने वाली कंपनी में काम करता था। यहीं से इसे चिप लगाकार पेट्रोल पंपों में चोरी का आइडिया आया। इसके बाद इसने नौकरी छोड़ खुद ही चिप बनाने की एक छोटी फैक्ट्री शुरू की। आज प्रशांत को कर्नाटक से ठाणे लाया जाएगा। प्रकाश का संबंध उत्तर प्रदेश एसटीएफ की गिरफ्त में आए विवेक शेट्टी से है। विवेक मुंबई के डोबीवली का रहने वाला है।”

पेट्रोल-डीजल चोरी के मामले में UP STF ने कुछ दिनों पहले पिंपरी के रहने वाले अविनाश मनोहर नाइक और ठाणे के उल्हासनगर के रहने वाले विवेक शेट्टी को अरेस्ट किया था। दोनों से पूछताछ में ठाणे के प्रशांत का नाम सामने आया। ये दोनों प्रशांत की कंपनी में बनी माइक्रो चिप और रिमोट लेकर देश के अन्य हिस्सों में सप्लाई करते थे। पुलिस को इनके पास से भारी मात्रा में माइक्रो चिप, आरएक्स रिसीवर, रिमोट कंट्रोल, डिस्पले बोर्ड और 2 लैपटॉप बरामद हुए थे। जांच में पता लगा कि आरोपी चिप इन्स्टॉल करने के साथ ही इनको ऑपरेट करने की ट्रेनिंग भी देते थे।

कुछ महीने पहले यूपी एसटीएफ ने अजय चौरसिया उर्फ राजू नाम को डिस्पेंसिंग मशीनों में चिप इन्स्टॉल करने के आरोप में अरेस्ट किया था। पूछताछ में पता लगा कि अजय चिप ठाणे और पुणे से मंगाता था। एक चिप इन्स्टॉल करने के बदले में अजय 12 से 15 हजार रुपए तक लेता था। अजय ने मुजफ्फरनगर के जौहर अब्बास को 400 से ज्यादा चिप बेची थी। अजय ने पूछताछ में नाइक और शेट्टी के नाम बताए थे। नाइक ने ही पुलिस को प्रशांत के बारे में बताया था।