कालाधन के खिलाफ मोदी सरकार का मास्टर स्ट्रोक

12
SHARE

अकूत मात्रा में कालाधन, आतंकवाद और जाली नोट से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मास्टर स्ट्रोक लगा दिया है। मंगलवार को राष्ट्र के नाम संदेश के जरिए प्रधानमंत्री ने कालाधन के खिलाफ सर्जिकल अटैक की घोषणा करते हुए मंगलवार आधी रात से 500 और 1000 के नोटों को बंद करने और इसके बदले बाजार में 2000 के नए नोट उतारने की घोषणा कर दी है।

कालाधन पर अंकुश लगाने के लिए प्रधानमंत्री ने कई अन्य अहम घोषणा की है। इसके मुताबिक अगले दो दिनों तक देश भर के ज्यादातर एटीएम बंद रहेंगे। एटीएम सुविधा शुरू होने के कुछ दिनों तक उपभोक्ता प्रतिदिन 2000 रुपये से अधिक की रकम नहीं निकाल पाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा है कि अवैध घोषित किए गए 500 और 1000 रुपये केनोट को 10 नवंबर से 30 दिसंबर तक बैंकों और प्रमुख डाकघरों में जमा करा कर उसके बदले वैध रकम वापस लेने के लिए कहा है।

राष्ट्र को अचानक  किए गए राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि देश ने विभिन्न क्षेत्रों में तरक्की कर दुनिया में चमकते सितारे के रूप में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। मगर काला धन, इसके जरिए फैल रहे आतंकवाद और जाली नोट अब भी बड़ी समस्या बने हुए हैं। ईमानदारी से पैसा कमाने वाले नागरिकों केहितों की रक्षा बेहद जरूरी है। पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि पिछले दशकों में हम यह अनुभव कर रहे हैं कि देश में भ्रष्टाचार और कालाधन नामक बीमारियों ने अपनी जड़ें जमा ली हैं। भ्रष्टाचार और कालेधन का जाल तो तोड़ने के लिए सरकार सख्त कदम उठा रही है और इसके नतीजे भी सामने आ रहे हैं।