कानपुर के पास बड़ा ट्रेन हादसा, 90 की मौत, 200 घायल

15
SHARE

कानपुर सेंट्रल से 70 किमी पहले पुखरायां रेलवे स्टेशन के पास आज सुबह 3.10 बजे 19321 अप इंदौर-राजेंद्र नगर पटना एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस हादसे में अब तक 90 लोगों की मौत हो गई जबकि 200 से अधिक घायल बताए जा रहे हैं। राहत कार्य में एनडीआरएफ को भी लगाया गया है। बताया जा रहा है कि अभी भी कई लोग कोचों में फंसे हुए हैं।

हादसे में मृतकों के परिजन को यूपी सरकार ने पांच-पांच लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है। घायलों को 50-50 हजार रुपये की घोषणा की गई है।  इसके अलावा केंद्र ने मृतकों के परिवार वालों को साढ़े तीन लाख रुपये देने की घोषणा की है। घायलों को 50-50 हजार रुपये के मुआवजे का भी ऐलान किया गया है।

हालांकि, आईजी कानपुर जकी अहमद ने बताया कि यह हादसा ट्रेन के 14 डिब्बों के पटरी से उतरने के कारण हुआ। रेलवे प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने कहा कि दुर्घटनास्थल पर मेडिकल टीमों को रवाना कर दिया गया है और राहत और बचाव कार्य चल रहा है।

इधर, रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने भी हादसे की त्वरित जांच करने के आदेश दे दिए हैं। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के मुताबिक अभी तक हादसे का कारण समझ नहीं आ रहा है।

अखिलेश ने भी प्रशासन को राहत व बचाव कार्य के निर्देश दिए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने डीजीपी को निजी तौर पर राहत और बचाव कार्य की निगरानी करने के निर्देश दे दिए हैं। पुलिस उप महानिरीक्षक ने बताया कि बचाव एवं राहत कार्य तेजी से चल रहा है। घायलों को अस्पताल में पहुंचाने के लिए 21 एम्बुलेंस लगाई गई हैं।कुछ घायलों को निजी वाहनों से भी अस्पताल पहुंचाया गया है।

इस हादसे की वजह से झांसी-कानपुर रेल खण्ड पर यातायात अवरूद्ध हो गया है। कई ट्रेनों के मार्ग बदल दिये गये हैं जबकि कई को रद्द करना पडा। मुम्बई से लखनऊ आने वाली पुष्पक एक्सप्रेस का मार्ग परिवर्तित कर दिया गया है। वह अब जालौन से ग्वालियर होते हुए लखनऊ आ रही है।
हादसे की शिकार हुई ट्रेन के एक यात्री हाजी याकूब अहमद नें बताया कि दुर्घटना के समय ज्यादातर लोग सो रहे थे। अचानक इतनी तेज आवाज हुई की लोगों की नींद टूट गयी। नींद टूटते ही यात्रियों की चीख पुकार सुनाई दे रही थी।

रेल मंत्री ने दिए जांच के आदेश

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हादसे को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए इसकी जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि राहत और बचाव कार्य जारी है और मामले पर नजर रखी जा रही है।