मुलायम के बाद अखिलेश से मिले PK, क्या होगा महागठबंधन ?

25
SHARE

यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन को लेकर सियासत तेज हो गई है. महागठबंधन की कवायद के बीच आज कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार प्रशान्त किशोर ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. जिसके बाद समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के साथ आरएलडी और तमाम दलों के महागठबंधन की अटकलें तेज हो गई हैं. आपको बता दें कि इससे पहले प्रशान्त किशोर ने रविवार को एसपी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव से मुलाकात करके महागठबंधन को लेकर हलचलें बढ़ा दी थीं.

तेज हो गईं महागठबंधन की अटकलें

प्रशान्त किशोर से जुड़े करीबी सूत्रों के मुताबिक पीके ने रविवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की थी. दोनों के बीच लंबी बातचीत हुई. माना जा रहा है कि इस दौरान महागठबंधन बनाने पर बातचीत हुई. प्रशान्त किशोर की इस मुलाकात से प्रदेश में एसपी, उसके साथ गठबंधन के इच्छुक दलों जेडीयू, आरएलडी, आरजेडी और कांग्रेस का महागठबंधन बनाये जाने की अटकलें और तेज हो गयी हैं.

दिल्ली में नेताजी से मिले थे प्रशान्त किशोर

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की चुनावी नैया पार लगाने की जिम्मेदारी सम्भाल रहे प्रशान्त किशोर ने चार नवम्बर को नयी दिल्ली में एसपी प्रमुख से मुलाकात की थी. हालांकि एसपी अभी इस मुद्दे पर अपने पत्ते नहीं खोल रही है.

समाजवादी पार्टी के यूपी अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने आज पार्टी राज्य मुख्यालय पर एक बैठक के बाद संवाददाताओं द्वारा महागठबंधन के बारे में पूछे जाने पर कहा कि जब गठजोड़ हो जाएगा, तभी इस बारे में कोई बात की जाएगी.

बिहार चुनाव से पहले बने महागठबंधन में अहम घटक था एसपी

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव से पहले बने महागठबंधन में एसपी अहम घटक था. उसका नेतृत्व एसपी मुखिया मुलायम सिंह यादव को सौंपा गया था, लेकिन चुनाव से ऐन पहले एसपी अपेक्षित संख्या में सीटें ना मिलने का हवाला देते हुए पीछे हट गयी थी. हालांकि चुनाव में आरजेडी, जेडीयू और कांग्रेस के महागठबंधन ने बीजेपी की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को शिकस्त देकर सरकार बनायी थी.