11 घंटे के मुठभेड़ के बाद ATS ने मार गिराया IS आतंकी सैफ़ुल्लाह को, देश में पहली बार हुआ IS आतंकी का एनकाउंटर

18
SHARE

देश में पहली बार आतंकी संगठन आईएस का हमला हुआ है और पहली बार आईएस का आतंकी एनकाउंटर में मारा गया है. आईएस की पूरी साजिश का खुलासा कल तब हुआ जब मध्य प्रदेश के शाजापुर में ट्रेन में धमाका हुआ, जब धमाके की जांच शुरू हुई तब आईएस के तार निकलकर सामने आए. यूपी के डीजीपी जावीद अहमद ने कहा कि हमने आतंकी को गिरफ्तार करने की कोशिश की थी लेकिन जवाबी कार्रवाई में वो ढेर हो गया.

मध्य प्रदेश और यूपी से छह संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार किए गए और लखनऊ में एनकाउंटर में आतंकी सैफुल्लाह मारा गया. आतंकी के पास से आठ ऑटोमेटिक पिस्तौल और बम बनाने का सामना बरामद हुआ है. साढ़े छह सौ जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं. ये भी पता चला है कि मारे जाने से पहले सैफुल्ला ने पचास राउंड गोलियां भी चलाई. पुलिस को सैफुल्ला के दो साथियों की भी तलाश है.

खुफिया एजेंसियों ने संकेत दिए थे कि मध्यप्रदेश में पैसेंजर ट्रेन में हुए धमाके के पीछे आईएस के आतंकियों का हाथ था. जिसके बाद छापेमारी में 6 संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार किए गए और एक आतंकी लखनऊ में मारा गया. सैफुल्लाह नाम के संदिग्ध आतंकी ने लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में एक घर में पनाह ले रखी थी. इस ऑपरेशन ने मध्यप्रदेश से लेकर यूपी और दिल्ली तक हलचल मचा दी है.

दरअसल, यूपी एटीएस को खुफिया एजेंसियों ने खबर की थी कि मध्यप्रदेश के शाजापुर में एक ट्रेन में हुए धमाके के कुछ संदिग्ध लखनऊ के ठाकुरगंज में किराये पर लिए गए घर में मौजूद थे. इसी के बाद ऑपरेशन शुरु हुआ. शक था कि दो लोग हैं, लेकिन पूरी छानबीन के बाद सिर्फ एक लाश मिली, जिसे पहले ही मार गिराया गया था. बताया जा रहा है कि अभी पुलिस आतंकी को दो अन्य साथियों की तलाश कर रही है जो लखनऊ में हो सकते हैं.

एटीएस के मुताबिक कानपुर के रहने वाले सैफुल्लाह के पास काफी हथियार थे. इस घटनाक्रम के साथ यूपी ही नहीं देश में आईएसआईएस की मौजूदगी का बड़ा सवाल खड़ा हो गया है. आपको बता दें कि शाजापुर में ट्रेन धमाके के बाद सक्रिय हुई खुफिया एंजेंसियों के इनपुट पर एमपी के पिपरिया से तीन लोगों के साथ ही यूपी के कानपुर से दो और इटावा से एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है. इस मामले में अभी और गिरफ्तारियां हो सकती हैं.