लोकसभा-राज्यसभा हंगामें के कारण कल तक स्थगित

6
SHARE

मोदी सरकार के 500 और 1000 के बड़े नोटों को अमान्य करने के निर्णय के मुद्दे पर एकजुट विपक्ष के भारी हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही दो बार के स्थगन के बाद दोपहर दो बजे दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई। वहीं राज्यसभा की कार्यवाही विपक्ष के हंगामे के चलते पांच बार स्थगित हुई और तीन बजे उसे कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया|

लोकसभा में विपक्षी सदन का कार्य स्थगित करके मतविभाजन वाले नियम 56 के तहत तत्काल चर्चा कराने की मांग कर रहे थे। सरकार ने कहा कि यह कदम कालाधन, भ्रष्टाचार और जाली नोट के खिलाफ उठाया गया है और वह नियम 193 के तहत चर्चा कराने को तैयार है। लेकिन विपक्षी दल कार्य स्थगित करके चर्चा कराने की मांग पर अड़े रहे|

राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे के चलते कार्यवाही को पहले 11.30 बजे तक स्थगित किया गया। राज्यसभा की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई लेकिन विपक्ष ने फिर से हंगामा शुरू कर दिया और स्पीकर ने सदन की कार्यवाही को 12 बजे तक स्थगित कर दिया और इसके बाद 12.30 बजे तक स्थगित कर दिया गया। नोटबंदी के चलते देशभर में जान गंवाने वाले करीब 70 लोगों को श्रद्धांजलि दिए जाने की मांग को लेकर राज्यसभा में विपक्ष ने 12:30 बजे सदन की कार्यवाही शुरू होते ही हंगामा करने लगा जिसके चलते दोपहर दो बजे तक के लिए सदन को स्थगित कर दिया गया। दो बजे सदन की कार्यवाही फिर शुरू हुई लेकिन विपक्ष का हंगामा जारी रहा और सदन की कार्यवाही तीन बजे तक स्थगित कर दी गई|

लोकसभा की बैठक विपक्ष के हंगामे के कारण 11 बजकर 50 मिनट पर 10 मिनट के लिए स्थगित की गई। इसके बाद लोकसभा की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई लेकर विपक्ष के हंगामें के चलते स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही को दो बजे तक स्थगित कर दिया। लोकसभा में दो बजे के बाद सदन की कार्यवाही फिर से शुरू नहीं हो सकी जिसके चलते उसे कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया|