लोहिया ट्रस्ट में शिवपाल समर्थकों को जगह, अखिलेश समर्थक बाहर

111
SHARE

समाजवादी पार्टी में चल रही पारिवारिक कलह का असर आज लोहिया ट्रस्ट की बैठक में भी देखने को मिला जबकि बुलावे के बावजूद सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव और महासचिव राम गोपाल यादव नहीं पहुंचे। बैठक में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह यादव शामिल रहे। इस दौरान ट्रस्ट से अखिलेश समर्थक चार सदस्यों को बाहर कर दिया गया जबकि उनकी जगह मुलायम और शिवपाल के करीबियों को शामिल किया गया है।

बैठक में जिन सदस्यों को हटाया गया है, उनमें सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी, विधान परिषद सदस्य और पूर्व मंत्री अहमद हसन, उषा वर्मा और आलोक शाक्य हैं। ये सभी अखिलेश यादव के नजदीकी माने जाते हैं। इनके स्थान शामिल होने वालों में रामसेवक यादव, राम नरेश यादव, राजेश यादव और दीपक मिश्र हैं। इनकी गिनती मुलायम और शिवपाल के करीबियों में होती है। माना जा रहा है कि इस फैसले के बाद परिवार में बढ़ रही खाई और गहराएगी। इससे पहले मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी विचारधारा के अपने पुराने साथियों मधु लिमये, कपिलदेव सिंह, जनेश्वर मिश्र और बाबू गेंदा सिंह को याद करते हुए लोहिया के विचारों को आगे ले जाने के लिए हरसंभव काम करने का आह्वïन किया। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट जिन मूल्यों को लिए स्थापित किया था, उसे आगे बढ़ाया जाना चाहिए। उन्होंने ट्रस्ट के पुस्तकालय को और समृद्ध किए जाने पर भी जोर दिया। बैठक में धर्मेंद्र यादव, भगवती सिंह, दीपक मिश्र आदि शामिल रहे।

बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि यह ट्रस्ट की सामान्य बैठक थी, जिसमें लोहिया के विचारों को आगे बढ़ाने पर विचार-विमर्श किया गया। यह पूछे जाने पर कि अखिलेश क्यों नहीं आए, उन्होंने कहा कि बुलाया उन्हें भी गया था लेकिन, वह कहीं व्यस्त होंगे, इसलिए नहीं आए।

source-DJ