दलितों के घर जाने वाले बीजेपी नेता भगवान राम की तरह: योगी के मंत्री का बयान

10
SHARE

योगी के मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह ने बीजेपी नेताओं की तुलना भगवान राम से करते हुए कहा कि दलित घर में खाना खाकर उन्होंने वही किया जो राम ने शबरी के बेर खाकर किया था.

बीजेपी के दलित सांसद उदित राज ने कहा कि ऐसी घटनाएं दलित समुदाय के लिए अपनामजनक हैं. उन्होंने कहा कि आज के नए दलितों का मानना है कि यह उन्हें नीचा दिखाता है. मैं बीजेपी के प्रवक्ता के रूप में नहीं बोल रहा हूं बल्कि एक दलित के रूप में बोल रहा हूं. मैं इसका समर्थन नहीं करता हूं कि एक सवर्ण दलित के घर यह बोलने जाता है कि देखो वे नीच हैं और दूसरे ऊंचे हैं.

योगी सरकार में मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि दलित घर में खाना खाकर उन्होंने वही किया जो राम ने शबरी के बेर खाकर किया था. दलित के घर भोजन करने के बाद राजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि ‘रामायण में राम और शबरी बातचीत का वर्णन किया गया है. आज जब मैं यहां आया, तब ज्ञान की मां ने मुझे भोजन दिया. उन्होंने कहा कि मुझे भोजन करा कर उन्हें आशीर्वाद मिला… उन्होंने कहा कि मैं क्षत्रिय हूं, धर्म, समाज की रक्षा करना मेरा कर्तव्य है.’

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के मंत्री सुरेश राणा अलीगढ़ के लोहागढ़ में एक दलित के घर खाना खाने पहुंचे. वहां खाना खाया भी. लेकिन मंत्रीजी के लिए खाना, पानी और बर्तन का इंतजाम बाहर से हुआ. उनके रात रुकने के लिए गद्दों और कूलर का इंतजाम भी किया गया. हालांकि, इस पर मंत्री सुरेश राणा का कहना है कि बाहर से भोजन की व्यवस्था इसलिए कराई गई, क्योंकि वहां लोग काफी अधिक थे.

घर के मालिक रजनीश ने कहा कि उसने कभी नहीं सोचा था कि उसके घर कभी मंत्री रात के ग्यारह बजे अचानक आ सकते हैं. रजनीश ने कहा कि मुझे नहीं पता था कि मंत्री जी रात के खाने पर मेरे घर आ रहे हैं. वह अचानक आ गये. उनके खाने-पीने का सारा इंतजाम बाहर से किया गया.