हथियारों से नहीं बल्कि कानून से देश चलते है, 6 महीने को देश हमें दो

141
SHARE

मंगलवार देर रात आजम खान ने सपा कैम्प कार्यालय में कार्यकर्ताओं की सभा को संबोधित करते हुए कहा- ”हथियारों पर ज्यादा भरोसा मत करो मोदी जी। हथियारों से नहीं बल्कि कानून से देश चलते हैं। हम खतरनाक बातों की तफसील में नहीं जाना चाहते। शायद हम आखिरी पीढ़ी हैं जो अमन की बात कर रहे हैं।”

आजम ने आगे कहा- ”मोदी जी इतना परेशान करोगे तो लोगों को अपनी जिन्दगी से नफरत हो जाएगी, तब क्या होगा? हमारी बुजदिली का इम्तेहान कब तक? हम उन तमाम लोगों की निंदा करते हैं जिन्होंने बेगुनाहों की जान ली है। अभी करीब 21 आईपीएस और आईएएस ऑफिसर्स ने लेटर लिखकर मुल्क के एनार्की (अराजकता) की तरफ जाने की बात कही है। एनार्की का लफ्ज बहुत खतरनाक है।”

आजम ने कहा- सिर्फ 6 महीने के लिए देश हमें दो, हम पार्लियामेंट से कानून पास कराकर हिन्दुस्तान के किसानों का कर्ज माफ करेंगे। हम उन्हें भीख या उन पर एहसान नहीं करेंगे, बल्कि उनकी जेब से निकाले हुए पैसे उन्हें वापस करेंगे।

आजम खां ने कहा, ”हिन्दुस्तान का माहौल सबसे ज्यादा बदनसीब और निंदनीय है। हिन्दुस्तान छह दहाई के बाद अपने रास्ते से हट रहा है। हिन्दुस्तान के सियासतदान बैलेट के बजाए बुलेट का रास्ता इख्तियार करना चाहते हैं। जुनैद, नजीब और पहलू खान का कत्ल तो प्रकाश में आ गए, लेकिन आमतौर पर जो ज्यादती हो रही है वो हुक्मरानी नहीं है। जब सिर उतरते हैं तो ताज उतर जाते हैं। बहुत खतरनाक खेल हो रहा है।”

आजम खान ने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर नितीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा- ”बदलाव तो अभी आ जाता, लेकिन उस बिहार से जहां से एकता का नारा लगा था वही टूट गया। राष्ट्रपति के चुनाव में ही फैसला हो जाता। लेकिन ऐसा शख्स जिसने एकता की शुरुआत की थी उसने ही कश्ती में सुराग कर दिया।”