लालू की महारैली में भारी भीड़, शरद यादव, अखिलेश यादव, गुलाम नबी आजाद भी पहुंचे

221
SHARE

लालू यादव की पटना के गांधी मैदान में बुलाई गई ‘देश बचाओ भाजपा भगाओ रैली’ में विपक्ष के साथ साथ तमाम दिग्‍गज जुटे है। शरद यादव भी पहुंचे और कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी ने फोन के जरिए रैली को संबोधित किया।

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि आज जो लोग सत्ता में बैठे हैं उनका एक ही मकसद है। देश का विभाजन करना। देश में ऐसी सरकार चल रही है जिसे देश की नहीं अपनी पार्टी की चिंता है। उन्होंने कहा कि हर साल दो करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा करने वाली सरकार ने अभीतक कितने लोगों को रोजगार दिए।

सोनिया ने कहा कि बच्चे अस्पताल में जान दे रहे हैं। कमजोर तबके पर अत्याचार बढ़ रहे हैं। नीतीश के नाम लिए बिना सोनिया ने कहा कि बिहार में जनादेश का अपमान नहीं पूरे देश का अपमान हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बार-बार कहते हैं कि विरोध करने वाले आजकल बढ़ गए हैं। सोनिया ने कहा कि जो सच से इंकार करते हैं वो ज्यादातर दिन तक प्रांसगिक नहीं रहते।

सोनिया ने कहा कि भारत की विविधता, एकता और धर्मनिरपेक्षता को बचाए रखना है। आज की रैली ने देश में एक संदेश दिया है।

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अच्छे दिन वाले आजकल न्यू इंडिया की बात कर रहे हैं। अखिलेश बोले कि हम जानना चाहते है कि जीएसटी और नोटबंदी से कितना भ्रष्टाचार रुका और कितने युवाओं को रोजगार मिला। जीएसटी और नोटबंदी से कितने लोग बेरोजगार हुए इस बारे में भाजपा को बताना चाहिए। बाढ़ पर अखिलेश ने कहा कि बाढ़ आई नहीं है बल्कि लाया गया है। भाजपा पर हमला तेज करते हुए अखिलेश ने कहा कि अगर बिहार की धरती भाजपा का रथ रोक सकती है ये धरती तो भाजपा को भी रोक सकती है।

तेजस्वी यादव ने अपने भाषण में नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने भाषण की शुरुआत में ही सीएम नीतीश को चाचा कहकर प्रणाम किया और उन्हें एक धोखेबाज कह डाला। तेजस्वी ने कहा कि ऐसा कोई सगा नहीं है, जिसे नीतीश ने ठगा नहीं हो।

शरद के अलावा सपा अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी मंच पर पहुंचे। इसके अलावा राज्यसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद भी लालू को समर्थन देने पहुंचे। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी इस रैली में लालू को समर्थन देने पहुंची। रैली में यूं तो तमाम दिग्‍गज पहुंचे लेकिन सबकी निगाहें शरद यादव पर ही थी क्योंकि जेडीयू नेता और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ चेतावनी दी थी कि अगर शरद यादव लालू की रैली में जाते हैं तो उन्हें कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा।

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने रैली का वीडियो फेसबुक पर शेयर किया है। नीतीश कुमार को चाचा कहकर संबोधित करते हुए तेजस्वी ने कहा कि ऐसा कोई सगा नहीं जिसे नीतीश ने ठगा नहीं। वो न आदमी अच्छे हैं न नेता।

सीएम नीतीश के अलग होने के बाद लालू की ये पहली बड़ी रैली है, जिसमें हजारों समर्थक जुटे हैं।