केरल हाईकोर्ट ने पलटा फैसला, श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध

21
SHARE

मंगलवार को केरल हाईकोर्ट ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में अपने फैसले को पलट दिया है जिसके बाद एक बार फिर तेज गेंदबाज एस श्रीसंत पर बीसीसीआई द्वारा लगाए आजीवन प्रतिबंध को बहाल कर दिया।

इसी साल अगस्त में केरल हाईकोर्ट ने क्रिकेटर श्रीसंत को राहत देते हुए बीसीसीआई के द्वारा लगाए आजीवन प्रतिबंध को खत्म कर दिया था। इसके बाद बीसीसीआई ने कोर्ट से इस मामले पर फिर से विचार करने की अपील करते हुए याचिका दायर की थी। इसी पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने मंगलवार को फैसला सुनाया है।

18 सितंबर को कोर्ट में दायर अपील में BCCI ने कहा था कि साक्ष्यों के आधार पर कार्रवाई की गई थी। बीसीसीआई ने अपनी याचिका में तर्क दिया था कि कोर्ट केवल इस बिनाह पर श्रीसंत पर लगाए गए प्रतिबंध को नहीं हटा सकता कि दिल्ली की एक निचली अदालत ने उसे दोषमुक्त करार दिया है। बीसीसीआई की ओर से अपनी दारय करते हुए सीईओ जौहरी ने कहा, जिन सबूतों के आधार पर किसी के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जा सकती है उन्हीं के आधार पर उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई।

चीफ जस्टिस नानावती प्रसाद सिंह और जस्टिस राजा विजयराघवन ने बीसीसीआई की याचिका पर सुनवाई करते हुए फैसला सुनाया। डिविजन बेंच ने कहा कि प्राकृतिक न्याय का उल्लंघन नहीं हुआ है और श्रीसंत के पक्ष में दिए गए एक सदस्यीय बेंच के आदेश को रद्द कर दिया।