कश्मीर: पुलिस कार्रवाई में पांच महीने में 9000 लोग घायल, इनमें 1200 बच्चे

6
SHARE

जम्मू-कश्मीर सरकार ने कुछ आंकड़े जारी किए हैं, जिनके मुताबिक 8 जुलाई को हिजबुल कमांडर बुरहान वानी को मार गिराए जाने के बाद घाटी में भड़की हिंसा में घायल हुए 9010 लोगों में 1248 ऐसे बच्चे हैं जिनकी उम्र 15 साल से भी कम है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग को घाटी के विभिन्न अस्पतालों से मिले डेटा के मुताबिक 2 नवंबर तक अस्पताल में भर्ती घायल लोगों की कुल संख्या 9010 है। इनमें से 6205 पेलेट गन से जख्मी हुए, 365 गोली से जख्मी हुए, वहीं 2436 लोग “अन्य चोटों” से घायल हुए हैं। हालांकि “अन्य चोटों” से क्या तात्पर्य था यह साफ नहीं किया गया, लेकिन एक अधिकारी ने हमारे सहयोगी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि ये लोग पुलिस और सिक्योरिटी फोर्स की पिटाई में घायल हुए हैं।

सूची में यह भी साफ नहीं किया गया कि आंख में पेलेट गन लगने से कितने लोग घायल हुए हैं, हालांकि आधिकारिक सूत्र ने बताया कि श्रीनगर के तीन प्रमुख हॉस्पिटल में ऐसे 1300 घायल लोग मिले, जिनकी आंख में पेलेट गन लगी थी। सूत्रों ने बताया कि इनमें से अधिकतर युवा हैं और पेलेट गन से कुछ पूरी तरह अंधे हो गए हैं और कुछ की एक आंख की रोशनी चली गई है। आंकड़ों के मुताबिक, घायलों में 12 साल से कम उम्र के 243 बच्चे हैं और 12-15 साल की उम्र के 1005 बच्चे है