जिन्ना महापुरुष थे, ऐसे महापुरुष की तस्वीर लगाई जानी चाहिए: बीजेपी सांसद

40
SHARE

बहराइच से बीजेपी सांसद सावित्री बाई फुले ने जिन्ना की तारीफ़ में कहा कि मोहम्मद अली जिन्ना महापुरुष थे और हमेशा रहेंगे. आज़ादी की लड़ाई में उनका अहम योगदान था. ऐसे महापुरुष की तस्वीर जहां ज़रूरत हो, उस जगह पर लगाई जानी चाहिए.

इससे पहले बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने एएमयू का नाम लिए बिना कहा था कि अचानक से विश्वविद्यालयों का नाम बदलने और कुछ लोगों की तस्वीरों को हटाने की मांग होने लगी. उन्हें क्यों हटाया जाए? इतने सालों में वे वहीं थे और सब कुछ ठीक चल रहा था. वहीं अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर खड़े हुए विवाद के बीच देश के कुछ अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थानों के छात्र संघों के पूर्व अध्यक्षों, शिक्षकों और इस्लामी जानकारों के एक संगठन ने आरोप लगाया कि ‘यह सब विश्वविद्यालय की छवि खराब करने, इसके अल्पसंख्यक संस्थान होने पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करने और चुनावों से पहले ध्रुवीकरण का प्रयास है.’

‘माइनॉरिटी यूनिवर्सिटीज एल्युमिनाई फ्रंट’ के संयोजक प्रोफेसर बशीर अहमद खान ने कहा, ‘एएमयू में पिछले दिनों जो कुछ हुआ उसका मकसद इस संस्थान के अल्पसंख्यक किरदार पर सवाल खड़े करना है. यह एक साजिश है. इसके जरिये एएमयू की छवि खराब करने और चुनाव से पहले समाज में ध्रुवीकरण करने की कोशिश कर रहे हैं.’ एएमयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष इरफानुल्ला खान ने कहा, ‘यह सब एक सोची-समझी साजिश के तहत हो रहा है. पहले जेएनयू, फिर एएमयू और फिर जामिया मिल्लिया इस्लामिया को निशाना बनाने की कोशिश हो रही है. शिक्षण संस्थानों को निशाना बनाना देश के लिए उचित नहीं है.’

उन्होंने कहा, ‘सरकार यह तय करे कि देश में किसकी तस्वीर लगनी चाहिये और किसकी नहीं लगनी चाहिये. हम जिन्ना को अहमियत नहीं देते लेकिन वह इतिहास का हिस्सा हैं और तस्वीर को इसी नजर से देखा जाना चाहिए.’ उन्होंने कहा, ‘मानव संसाधन विकास मंत्रालय को इस मामले में दखल देना चाहिए और विश्वविद्यालय में हालात के बारे में अपनी स्थिति स्पष्ट करना चाहिए.’

source-NDTV