अखिलेश यादव और जयंत चौधरी की मुलाकात हुई, गठबंधन पर बन गई बात!

40
SHARE

सपा-बसपा के साथ आरएलडी के भी गठबंधन की संभावनाएं भी बनती दिखाई दे रही हैं। आज लखनऊ में समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी की मुलाकातक हुई। इस मुलाकात के बाद जयंत चौधरी ने कहा कि जल्दी फैसलों के बारे में बता दिया जाएगा।

अखिलेश यादव के साथ मुलाकात के बाद जयंत चौधरी खुश दिखे। उन्होंने कहा कि अखिलेश जी के साथ बैठक काफी अच्छी रही। मैं महसूस करता हूं कि हमारे प्रयास सफल होंगे। उन्होंने यह भी कहा कि मसला सीटों का नहीं आपसी विश्वास और रिश्तों का है जो बहुत गहरा है।

जयंत ने अखिलेश यादव के साथ मुलाकात की तस्वीर पोस्ट कर उर्दू के मशहूर कवि अल्लामा इकबाल की शायरी लिखी है। इससे भी अंदाजा लगाया जा रहा है कि दोनों के बीच सीटों पर बात बन गई है।

बताते चलें कि बीएसपी सुप्रीमो मायावती और अखिलेश यादव की 12 जनवरी को हुई संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में राष्ट्रीय लोकदल या अन्य दलों के बारे में कोई जिक्र नहीं किया गया था। सपा-बसपा ने दो सीट अन्य दलों के छोड़ी और माना जा रहा था कि यह आरएलडी के लिए ही हैं। इस बारे में एक सवाल के जवाब में अखिलेश यादव ने कहा था कि आरएलडी की सीटों के बारे में अलग से बता दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें-अखिलेश यादव ने डिंपल यादव के जन्मदिन पर ऐसे दी बधाई

हालांकि आरएलडी 2 सीटों पर सहमत नहीं थी। पार्टी ने पांच-छह सीटों पर दावेदारी जताई है। अखिलेश यादव के साथ मुलाकात के बाद माना जा रहा है कि इन दो सीटों के अलावा उसे एक से दो सीट और दी जा सकती हैं, यह सीटें सपा के कोटे की होंगी क्योंकि मायावती अपने कोटे में अब कोई कटौती के लिए तैयार नहीं बताई जा रही हैं।

सूत्रों के मुताबिक पश्चिमी यूपी में आरएलडी की अहमियत को देखते हुए अखिलेश यादव आरएलडी को साथ रखने के पक्ष में हैं। आरएलडी को मिलने वाली दो और सीटें सपा के कोटे की ही होंगी।

बताया जा रहा है कि अखिलेश बागपत, मुजफ्फरनगर,मथुरा और हाथरस की सीट आरएलडी को देने को तैयार हैं लेकिन इनमें से मथुरा सीट पर उम्मीदवार सपा का और टिकट आरएलडी का हो सकता है। आरएलडी की परंपरागत सीट से जयंत चौधरी और मुजफ्फरनगर से चौधरी अजित सिंह ताल ठोकेंगे।