जेवर कांड का पीडित परिवार सीएम योगी से मिला

61
SHARE

जेवर के पीडि़त परिवार से मिलने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परिवार को आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि बहन-बेटियों को सुरक्षा दी जायेगी। इससे साथ ही पीडि़त परिवार को पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता व पेंशन और बच्चों को मुफ्त शिक्षा दी जायेगी। इसके साथ ही सीएम ने डीजीपी के साथ नोएडा के एसएसपी को इस प्रकरण के सभी वांछित को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया। सीएम ने कहा कि अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर प्रदेश की सभी बहन-बेटियों की सुरक्षा की जाये। प्रमुख सचिव गृह से भी सीएम ने इस प्रकरण पर बात की। परिवार को भरोसा दिलाया कि बहुत जल्दी गुंडे तथा बदमाश जेल में होंगे।

डीजीपी ने बताया कि जेवर कांड के लिए पुलिस ने चार-पांच टीमों का गठन किया है। अलीगढ़ के साथ ही साथ बुलंदशर पुलिस टीम की मदद ली जा रही है। हमको भरोसा है कि हम सही मुजरिम पकड़ेंगे, इसी कारण विलंब हो रहा है। बेवजह इस घटना को सांप्रदायिक रंग दिया है।

पीडि़त परिवार के यूनुस ने बताया कि हम लोग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने आए थे। उन्होंने हमारी बात को सुना और कहा कि हमको आर्थिक मदद के रूप में पांच लाख रुपए का चेक प्रदान किया जाएगा। सीएम ने कहा कि अपराधी की कोई जाति नहीं होती है।

गौरतलब है कि ग्रेटर नोएडा से 60 किलोमीटर दूर जेवर-बुलंदशहर हाइवे पर लूट, हत्या तथा गैंगरेप के मामले में उत्तर प्रदेश दहल गया था। इसके बाद बदमाशों की तलाश उत्तर प्रदेश के साथ हरियाणा व दिल्ली में जारी है। पुलिस के साथ एसटीएफ की भी टीमें लगी हैं। अभी तक चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनकी पहचान हाजी, मुन्ना और वहीम के रूप में हुई है। चौथे शख्स की पहचान अभी नहीं हो पाई है।

गिरफ्तार आरोपी पीडि़तों के पड़ोसी हैं। ग्रेटर नोएडा के जेवर थाना इलाके के साबौता गांव के पास बीते 24-25 की रात 6 बदमाशों ने कार में सवार होकर जा रहे परिवार के साथ लूटपाट की थी। बदमाशों ने परिवार के मुखिया की गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी।

कार में सवार चार महिलाओं के साथ गैंगरेप किए जाने की बात भी सामने आई थी। वारदात में जान गंवाने वाले 40 वर्षीय पुरुष की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पता चला है कि मौत 12 बोर की गोली लगने से हुई है। उसके शरीर से गोली के छर्रे भी मिले हैं।