1 मार्च से फिर शुरू होगा जाट प्रोटेस्ट, ‘असहयोग आंदोलन’ और दिल्ली जाम करेंगे जाट

11
SHARE

जाट आंदोलन एक बार फिर से शुरू हो सकता है. आज से ठीक 12 दिन बाद दिल्ली में जाट अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर सकते हैं. इस बार असहयोग आंदोलन और दिल्ली को जाम करने की शक्ल में आंदोलन कर सकते हैं जाट.

इस बार कुछ ऐसा होगा जाटों का आंदोलन

  • 1 मार्च से असहयोग आंदोलन शुरू किया जाएगा इसके तहत बिजली-पानी का बिल और बैंक के कर्ज नहीं भरे जाएंगे.
  • 2 मार्च को दिल्ली जाम करने का ऐलान किया गया है, जिसमें 13 राज्यों के 20 लाख से ज्यादा लोगों के पहुंचने का दावा किया गया है.
  • प्रदर्शन के बाद राष्ट्रपति को ज्ञापन दिया जाएगा और इसी दिन तय किया जाएगा कि संसद का घेराव कब किया जाए.

जाटों ने मनाया बलिदान दिवस  

रविवार को हरियाणा में रोहतक के जसिया गांव में जाटों ने बलिदान दिवस मनाया.

जाट समुदाय की मांग

दरअसल, मामला पिछले साल हरियाणा में आरक्षण की मांग पर हुए जाटों के प्रदर्शन के दौरान हिंसा का है. जाट समुदाय ने सरकार आगे ये मांगे रखी हैं:-

  • जाटों कि मांग है कि प्रदर्शन के दौरान दर्ज सभी मुकदमे वापस लिए जाएं.
  • प्रदर्शन के दौरान जिन लोगों को जेल में बंद किया गया उन्हें फौरन रिहा किया जाए.
  • प्रदर्शन के दौरान मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवजा मिले.
  • मृतकों के परिजनों को भी सरकारी नौकरी दी जाए.

23 दिन से जाट धरने

अपनी इन्हीं मांगों को लेकर हरियाणा के 20 जिलों में 23 दिन से जाट धरने पर बैठे हुए हैं. आपको बता दे, सरकारी नौकरियों में जाटों के लिए आरक्षण की मांग का मुद्दा फिलहाल पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में है.