इंदौर-पटना ट्रेन हादसे में 100 लोगों की मौत, मौके पर पहुंचे रेल राज्‍यमंत्री ट्रेन हादसे की जानकारी के लिए डायल करें ये नंबर

10
SHARE

इंदौर से पटना जा रही इंदौर-पटना एक्सप्रेस के यात्रियों के मुताबिक ट्रेन की एक बोगी में काफी तेज आवाज से किसी चीज के टकराने की आवाज आ रही थी। इसकी वजह से ट्रेन को रास्ते में दो जगह रोका भी गया था लेकिन जांच में कुछ नहीं पाया गया। आखिरी बार ट्रेन को उरई स्टेशन पर करीब आधा घंटा रोका गया। इसके बाद जब ट्रेन रवाना हुई तो पुखरायां स्टेशन पार करते ही ट्रेन हादसे का शिकार हो गई। एक बोगी के पटरी से उतरते ही उसके पीछे की 14 बोगियां भी उतर कर क्षतिग्रस्त हो गईं। चार डिब्बे बुरी तरह क्षतिग्र्रस्त हो गए। दो डिब्बे तो पूरी तरह पिचक गए। कई बोगियां एकदूसरे पर चढ़ गईं। हादसे में घायलों की चीखों से आसपास का क्षेत्र गूंज उठा। मौके पर राहत के लिए रेल अधिकारियों के अलावा आसपास के गांवों के ग्रामीण पहुंच गए। पीडि़तों की शुरुआती मदद गांववालों ने ही की|घटना की गंभीरता को देखते हुए एनडीआरएफ की टीम बनारस से पहुंची है। राहत कार्य में लगे जवानों ने बोगियों को काट कर शवों और घायलों को निकाला। मौके पर कानपुर से 7 एयरफोर्स हास्पिटल की मेडिकल टीम भी पहुंची|

रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने मौके पर पहुंच कर अधिकारियों से घटना के बारे में जानकारी हासिल की। अधिकारियों के मुताबिक अभी मृतकों व घायलों की संख्या और बढ़ सकती है। घायलों को कानपुर देहात के जिला अस्पताल के अलावा पुखरायां सीएचसी, कानपुर नगर के हैलट, लोको अस्पताल, उरई व झांसी के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। मौके पर डीजी हेल्थ सुनील श्रीवास्तव, सीएमडी रेलवे डॉ. राजीव कपूर, जीएम रेलवे अरुण सक्सेना, कानपुर कमिश्नर मोहम्मद इफ्तिखारुद्दीन आदि पहुंच गए थे। क्षेत्रीय सांसद देवेंद्र सिंह भोले के मुताबिक दोपहर में रेल मंत्री सुरेश प्रभु के मौके पर पहुंचने की उम्मीद है। वहीं सांसद भानुप्रताप वर्मा भी मौके पर पहुंचे। हादसे के बाद कानपुर सेंट्रल के पूछताछ काउंटर पर भीड़ बढ़ गई है| रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा मौकेे पर राहतकार्यों का जायजा लेने पहुंचे हैं। रेल मंत्री सुरेश प्रभु भी मौके पर पहुंच रहे हैं। इस हादसे में GS,GS,A1,B1, B2, B3, BE,S1,S2,S3, S4, S5,S6 कोच को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। खुद रेल मंत्री भी हादसे वाली जगह पर जा रहे हैं। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री भी मौके पर पहुंच रहे हैं|

इस हादसे में मारे गए यात्रियों के परिजनों रेल मंत्रालय ने को साढ़े तीन लाख का मुआवजा देने का एलान किया है। गंभीर रूप से घायलों के लिए यह राशि पचास हजार रुपये रखी गई है। वहीं मामूली रूप से घायल हुए यात्रियों को 25 हजार रुपये दिए जाएंगे। वहीं रेल राज्य मंत्री भी मौके पर पहुंच रहे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को पांच लाख रुपये बतौर मुआवजा देने का एलान किया है। वहीं गंभीर रूप से घायल यात्रियों को 50 हजार और मामूली रूप से गंभीर यात्रियों को 25 हजार रुपये दिए जाएंगे|

सेना को भी राहतकार्य में लगाया गया है। वाराणसी, कानपुर और लखनऊ से एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच चुकी हैं। करीब चालीस एंबुलेंस भी मौके पर हैं। उत्तर प्रदेश के डीजीपी जावेद अहमद के मुताबिक यात्रियों के लिए कुछ विशेष बसों को भी चलाया जा रहा है। डाक्टरों की विशेष टीम भी मौके पर पहुंच चुकी है| हादसे की वजह यह रेल मार्ग बाधित हो गया है। इसकी वजह झांसी-लखनऊ इंटरसिटी एक्सप्रेस, झांसी कानपुर पैसेंजर ट्रेन को रद कर दिया गया है। इसके अलावा ट्रेन संख्या 12107, 11124, 19167, 11015, 11016, 12104, 12511 का रूट बदल दिया गया है|

 

जानकारी केे मुताबिक यह कोच काफी पुराने होने की वजह से शवाें को निकालने में काफी परेशानी हो रही है। राहतकार्य में एनडीआरएफ की टीम भी लगी हुई है। गैस कटर के जरिए कोच को काटकर शवों को निकालने की कोशिश की जा रही है|

 

 

 

 

 

हादसे के दौरान यात्री एक दूसरे के ऊपर आ गिर, और कोच आपस में टकराकर बुरी तरह से पिचक गए। यात्रियों की पूछताछ के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं। यात्री 0513-270239 नंबर पर फोन कर इस हादसे से जुड़ी जानकारी ले सकते हैं। इसके अलावा कुछ अन्य जारी किए गए नंबर इस प्रकार हैं:-इंदौर से पटना जा रही इंदौर-पटना एक्सप्रेस कानपुर देहात में पुखरायां स्टेशन पार करते ही दुर्घटनाग्रस्त हो गई। देर रात करीब तीन बजे हुए हादसे में अब तक क्षतिग्रस्त बोगियों से 97 शव निकाले जा चुके हैं। इसके अलावा 300 से अधिक घायलों को इलाज के लिए कई जिलों के अस्पतालों में भेजा जा चुका है। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा मौके पर पहुंच चुके हैं। वहीं एनडीआरएफ व एयरफोर्स के डाक्टरों की टीम राहत कार्य में लगी हुई हैं। लखनऊ में प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख की फौरी मदद की घोषणा करते हुए पीडि़तों को हर संभव मदद पहुंचाने की बात कही है। उधर रेलराज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने मृतकों के परिजनों को साढ़े तीन- साढ़े तीन लाख, गंभीर घायलों को पचास-पचास हजार व साधारण घायलों को पच्चीस-पच्चीस हजार रुपये देने की घोषणा की है|