सिक्किम में बढ़ाई गयी सेना, चीन को दिया करारा जबाब

33
SHARE
Indian Army soldiers display their skills as they take part in a combat demonstration during Army Day in New Delhi on Friday. EXPRESS PHOTO BY PRAVEEN KHANNA 15 01 2016.

पाकिस्तान के बाद भारत के रिश्ते चीन से भी लगातार खराब होते जा रहे हैं। इसी को देखते हुए दोनों देशों ने सिक्किम से सटे चीन की सीमा पर 1962 के बाद सैनिकों की संख्या में इजाफा किया है। सिक्किम से सटे चीन की सीमा पर तनाव के बीच भारत ने डोक ला इलाके में सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है।

एक महीने से डोका ला में दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने हैं। आपको बता दें कि डोका ला उस क्षेत्र का भारतीय नाम है, जिसे भूटान डोकलाम कहता है, जबकि चीन इसे अपने डोंगलांग क्षेत्र का हिस्सा बताता है। सूत्रों के मुताबिक, चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) द्वारा भारतीय सेना के 2 बंकरों को नष्ट करने की आक्रामक कार्रवाई के बाद भारत ने गैर-आक्रामक मुद्रा में और ज्यादा जवानों को सीमा पर भेजा है।

सिक्किम और भूटान से सटे इलाके में चीन के साथ उपजे विवाद के बीच रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने चीन की चेतावनी को खारिज कर दिया है। चीन ने कहा था कि भारत को 1962 का सबक याद रखना चाहिए। चीनी विदेश मंत्री की इस चेतावनी पर प्रतिक्रिया देते हुए रक्षामंत्री अरुण जेटली ने कहा कि 2017 का भारत, 1962 के भारत से अलग है।

जेटली ने कहा कि भूटान ने बयान दिया है कि जहां चीन सड़क का निर्माण कर रहा है। वह जमीन भूटान की है और भूटान और भारत के बीच सुरक्षा संबंध हैं, इसलिए हमारी सेना वहां पर है।