डोकलाम में भारत थर्ड पार्टी है, सेना नहीं हटाई तो हम कश्मीर में दखल देंगे : चीन

93
SHARE

सिक्किम के डोकलाम एरिया में जारी विवाद पर चीन के सरकारी मीडिया ने कहा है, “डोकलाम मसला चीन-भूटान बॉर्डर विवाद है। इसमें थर्ड पार्टी के तौर पर भारत को दखल देने का क्या हक है? नई दिल्ली के तर्क के मुताबिक अगर उसे ये हक है तो ये बहुत खतरनाक होगा क्योंकि अगर कश्मीर मसले पर पाकिस्तान ने अपील की तो चीन की आर्मी वहां विवादित एरिया में घुस सकती है, जिसमें भारत के अधिकार वाला कश्मीर भी शामिल है।”

डोकलाम विवाद पर हल निकालने के लिए भारत के एनएसए (राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार) अजीत डोभाल बीजिंग में हैं। गुरुवार को उन्होंने चीन के एनएसए यांग जिआची से मुलाकात की। डोभाल शुक्रवार को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से भी मिलेंगे।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने गुरुवार को एक आर्टिकल में कहा है कि भूटान की ओर से भारत से कोई मदद नहीं मांगी गई थी, लेकिन भारत फिर भी इस मुद्दे में अपना अड़ंगा लगा रहा है। भूटान सरकार की तरफ से जारी 29 जून के बयान में भारत सरकार से मदद मांगने का कोई जिक्र नहीं था। डिप्लोमैटिक सूत्रों के मुताबिक भूटान सरकार को तो भारत की घुसपैठ के बारे में भी नहीं मालूम था।

डोकलाम में 42 दिन से भारत और चीन के सैनिक आमने-सामने हैं। ये इलाका एक ट्राई जंक्शन (तीन देशों की सीमाएं मिलने वाली जगह) है। चीन यहां सड़क बनाना चाहता है।