समुद्री डाकूओं के सामने एक साथ आयी भारत और चीनी की नौसेना, पाकिस्तान और इटली की नौसेना भी मौजूद

8
SHARE

अदन की खाड़ी अब फिर से समुद्री डाकूओं का आंतक का आतंक बढ़ने लगा है, नौसेना के मुताबिक तुवाला का व्यपारिक जहाज ‘ओएस 35’ पर समुद्री लुटरों ने आठ अप्रैल की रात को हमला किया था. हमला होते ही इस जहाज ने खतरे का सायरन बजा दिया. इसके बाद नौसेना का युद्दपोत आईएनएस मुंबई , तक्षक, त्रिशुल और आदित्य उसकी मदद के लिए निकल पड़े.

नौसेना के युद्धपोत के कैप्टन ने अपहर्ता जहाज के कैप्टन से संपर्क किया तो पता चला कि कैप्टन ने अपने क्रू मैंबर के साथ खुद को एक स्ट्रांग रूम में बंद कर लिया है. नौसेना का हेलीकॉप्टर ने हवाई मुआयना किया. चीन ने भी अपने युद्दपोत को इस ऑपरशन में लगा दिया. इस कार्रवाई में जहां चीन ने अपने बोट से नौसैनिक भजे वहीं भारतीय नौसेना ने हवाई सहयोग दिया. यहां पर मदद के लिए पाकिस्तान और इटली की नौसेना मौजूद थी. इसी दौरान डाकू डरकर जहाज से भाग गए. जब हेलीकॉप्टर से भी पता चला कि जहाज पर अब कोई डाकू मौजूद नहीं है. इन सबके दबाव का नतीजा रहा कि समुद्री डाकू जहाज छोड़कर भाग गए.

जब व्यपारिक जहाज के क्रू पता चला कि समुद्री डाकू जहाज पर से भाग गए है तो वे स्ट्रांग रूम से बाहर निकले. इस जहाज के 19 क्रू मेंबर ने भारतीय नौसेना को मदद के लिए धन्यवाद दिया.