बरेली में 1200 रुपये पर झगड़े में प्रधान के देवर की हत्या

37
SHARE

बरेली में 1200 रुपये के लिए प्रधान के देवर की भाला खोंपकर हत्या कर दी गई। इस घटना के बाद आरोपी गांव से फरार हो गए। इस मामले में सात लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है।

इज्जतनगर के गांव अडूपुरा निवासी श्यामबाबू यादव (45) खेती करते हैं। उनके बड़े भाई स्वर्गीय धनपाल सिंह यादव की पत्नी शकुंतला यादव गांव की प्रधान हैं। श्यामबाबू के भतीजे हरेंद्र ने बताया कि चाचा ने अपने पशुओं के लिए गांव के ही थान सिंह यादव से भूसा का सौदा किया था। इसके लिए 1200 रुपये थान सिंह को दिए थे।

उसने रुपये लेने के बावजूद भूसा पड़ोस के गांव कनुआ के व्यापारी को बेच दिया। इसी बात पर श्याम बाबू और थान सिंह के बीच मंगलवार को झगड़ा हुआ था। सूचना पर यूपी-100 की पुलिस और अहलादपुर चौकी की पुलिस गांव पहुंची थी। गांव के बुजुर्गो की दखल के बाद पुलिस को लिखित शिकायत नहीं दी गई।

परिजन के मुताबिक, पुलिस बुलाए जाने पर थान सिंह का परिवार श्यामबाबू से रंजिश मानने लगा था। गुरुवार दोपहर 12.30 बजे श्यामबाबू खेत से वापस अपने घर पहुंचे। आरोप है कि तभी चंदौखा गांव निवासी थान सिंह का ममेरा भाई छेदा उनके घर पहुंच गया। तीन दिन पहले हुए झगड़े में दोनों पक्षों का समझौता कराने की बात कहकर श्यामबाबू को अपने साथ गांव में ब्रह्मदेव देवस्थान ले गया।

वहां पर थान सिंह, उसका भांजा नरेंद्र आदि लोग पहले से बैठे थे। समझौते की बातचीत के दौरान ही नरेंद्र और श्यामबाबू के बीच कहासुनी होने लगी। इसी दौरान थान सिंह और नरेंद्र घर से भाला ले आया। श्यामबाबू और देवस्थान पर बैठे अन्य लोग कुछ समझ पाते, इससे पहले दोनों ने श्यामबाबू के पेट में भाले से वार कर दिए।

लहूलुहान श्यामबाबू को बड़ा बाईपास स्थित एक अस्पताल में दिखाया लेकिन हालत गंभीर देखकर किसी बड़े अस्पताल जाने को कहा। परिवार वाले उन्हें गंगाशील अस्पताल पहुंचे मगर उससे पहले उनकी मौत हो चुकी थीं।