मुरादाबाद में हैवानियत- पिता और भाइयों ने दो महीने की बेटी के सामने ही माँ को जिन्दा जलाया

68
SHARE

मुरादाबाद में इज्जत के लिए एक व्यक्ति ने अपनी ही विवाहिता बेटी को जलाकर मार डाला। दिनदहाड़े बेटी के ससुराल में घर में घुसकर पिता और भाइयों ने चारपाई पर बांधकर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। सभी घटनास्थल पर खड़े होकर उसे तड़प-तड़प कर मरता देखते रहे। इसके बाद फरार हो गए।

थाना क्षेत्र के आंवला घाट गांव निवासी मसरूफ की बेटी गुलफ्शां का मुहल्ले में रहने वाले मुस्लिम के बेटे साजिद से प्रेम प्रसंग था। 2013 में दोनों ने भागकर निकाह कर लिया था। इसके बाद करूला में आकर रहने लगे। इस बात से गुलफ्शां के परिजन काफी खफा थे। दस महीने पहले साजिद की बहन शबेनूर की शादी थी। इसके बाद से दोनों परिवार की सहमति से आंवला घाट में ही रहने लगे थे।

शुक्रवार को घर में गुलफ्शां, उसकी दो माह की बेटी और ननद शबेनूर घर में थीं। बाकी लोग बाहर गए थे। आसपास के लोग भी नमाज पढऩे गए थे। दोपहर करीब एक बजे गुलफ्शां के पिता मसरूफ, चाचा फारूख, तहेरे भाई इमरान व इरफान, चचेरे भाई फिरासत, शराफत, अशरफ और एक अन्य के साथ तमंचे लेकर घर में घुस आए। आरोपियों ने दो महीने की बेटी के सिर पर तमंचा लगा दिया और शबेनूर को कमरे में बंद कर दिया।

गुलफ्शां को चारपाई से बांध दिया और उस पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। आरोपियों के जाने के बाद शबेनूर ने शोर मचाया तो आसपास के लोग पहुंचे। तब तक गुलफ्शां की मौत हो गई थी। मौके पर पहुंचे एसपी सिटी आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपी चचेरे भाई फिरासत को गिरफ्तार कर लिया गया है। हत्या की योजना काफी दिनों से बनाई जा रही थी। अन्य आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करके उनकी तलाश शुरू कर दी गई है।