शनिवार को अमित शाह मिशन 2019 के लिए लखनऊ में, मंत्रिपरिषद की क्लास लेंगे

24
SHARE

अपने तीन दिवसीय प्रवास पर शनिवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इस बार बड़ा एजेंडा लेकर लखनऊ आ रहे हैं। वह संगठन और सरकार के बीच समन्वय के साथ ही मिशन 2019 के अभियान की बुनियाद रखेंगे। संगठन के पदाधिकारियों की बैठक लेने के साथ ही वह मंत्रिपरिषद की भी क्लास लेंगे।

अमित शाह का दौरा ऐसे समय में हो रहा है जब एक तरफ विपक्षी महागठबंधन में सेंध लगी है तो दूसरी तरफ भाजपा के लिए नई चुनौतियां भी खड़ी हुई हैं। शाह पहली बार उत्तर प्रदेश में तीन दिन तक प्रवास करेंगे और इस बीच संगठन और सरकार समेत कुल 25 बैठकें करेंगे। भाजपा उत्तर प्रदेश के नियंताओं के लिए यह परीक्षा की घड़ी है।

भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री सुनील बंसल ने कार्यक्रम तय करने में तीन दिनों से संगठन, मोर्चा, प्रकल्प, विभागवार बैठकें की हैं। भाजपा के प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया बताते हैं कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को सुबह नौ बजे एयरपोर्ट आएंगे और सीधे भाजपा मुख्यालय पहुंचेंगे। वह पहले संगठन की दो महत्वपूर्ण बैठक करेंगे और फिर मंत्रिपरिषद के साथ बैठक होगी।

शाह की मंत्रिपरिषद के साथ होने वाली बैठक को बहुत अहम माना जा रहा है। हाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पार्टी में सांसदों ने मंत्रियों की शिकायत की थी। शीर्ष नेतृत्व ने इसे बहुत गंभीरता से लिया है। प्रदेश के कुछ मंत्रियों की गंभीर शिकायत ऊपर तक पहुंची है। शाह इन लोगों को आईना दिखा सकते हैं। वह मंत्रियों के साथ दोपहर का भोज भी करेंगे। शाह ने सहयोगी दलों को भी आमंत्रित किया है।

इसके अलावा वह कोर ग्रुप की भी बैठक करेंगे। 2014 के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश के प्रभारी के रूप में अमित शाह ने मोदी के मिशन की आधारशिला रखी थी। भाजपा तबसे निरंतर सफलता की इबारत लिख रही है। अमित शाह नहीं चाहते कि कहीं से भी माहौल बिगड़े। इसीलिए वह संगठन और सत्ता के संतुलन के साथ ही सबकी जवाबदेही तय करना चाहते हैं। उनकी कसौटी पर सबका कामकाज होगा।

source-DJ