आरएसएस के 17 लोगो ने नाबालिक को पीट-पीटकर मार डाला, मृतक ने छेड़छाड़ का विरोध किया था

21
SHARE

केरल के अलापुजहा जिले में छेड़छाड़ का विरोध करने पर नाबालिग छात्र की हत्या कर दी गयी, पुलिस ने 17 लोगो को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है, जिनमे से 7 नाबालिक है और सभी आरोपी आरएसएस के बताये जा रहे है| मरने वाला छात्र भी एक साल पहले तक आरएसएस का सदस्य था पर पढ़ाई के कारण उसने आरएसएस को छोड़ दिया था|

17 साल के 12वीं के छात्र ए अनंतु ने स्कूल में एक लड़की से हो रही छेड़छाड़ का विरोध किया था जिसके बाद बुधवार की रात आरोपियों ने अनंतु को मंदिर के पास पकड़ लिया और एक सुनसान जगह पर ले जाकर उसकी पिटाई की। अनंतु के दोस्त उसे हॉस्पिटल लेकर गए, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

जिले के बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, पीड़ित भी एक साल पहले तक संघ से जुड़ा था। उसके परिवार के लोग आज भी बीजेपी कार्यकर्ता हैं। यह कहना गलत है कि आरएसएस छोड़ने पर उसे मार दिया गया। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार कुछ आरएसएस कार्यकर्ताओं ने हाल ही में सीपीआई (एस) और सीपीआई को छोड़ा था।

अधिकारियों का कहना है कि हत्या की ग्रैविटी को देखते हुए वह अदालत में याचिका दायर करेंगे कि नाबालिगों पर बालिगों की तरह कार्रवाई की जाए।

पुलिस के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि अनंतु और उसके दो दोस्तों ने स्कूल में एक लड़की से हो रही छेड़छाड़ का विरोध किया था। इसके बाद स्कूल में दोनों ग्रुप में विवाद हो गया। दूसरे ग्रुप ने अनंतु का टार्गेट कर लिया और मंदिर में होने वाले कार्यक्रम के दौरान उसके खिलाफ साजिश रच दी।

चेरथला के उप पुलिस अधीक्षक वाई आर रुस्तम ने कहा, यह एक सुनियोजित हत्या है। सभी आरोपी आरएसएस से जुड़े हुए हैं, जबकि मृतक भी पिछले साल तक आरएसएस की शाखा में जाता रहा है। एक साल पहले पढ़ाई में ज्यादा ध्यान देने के लिए वह शाखा जाना छोड़ दिया था। हालांकि, उन्होंने राजनैतिक कारणों से हत्या से इनकार कर दिया है।