कौशांबी में इंसानियत शर्मसार, 6 महीने की भांजी का शव साइकिल पर ले कर गया मामा

53
SHARE

कौशांबी में एक मामा अपनी छह महीने की मासूम भांजी का शव साइकिल पर ले जाने को मजबूर हुआ, क्योकि अस्पताल ने एम्बुलेंस देने से माना कर दिया था.

मामा ने बताया की अस्पताल से लाख मिन्नत करने के बावजूद शव वाहन मुहैया नहीं कराया गया, जिसके बाद अपनी भांजी का शव घर तक ले जाने के लिए उसे साइकिल का सहारा लेना पड़ा. सोमवार को हुई इस घटना के बाद उस वक़्त ड्यूटी पर तैनात अस्पताल के इमरजेंसी विंग के डॉक्टर के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया गया है.अस्पताल ने भी इस मामले की जांच शुरू कर दी है.

कौशांबी जिले के सिराथू तहसील के मलाकसद्दी गांव के रहने वाले एक शख्स की 6 महीने की बेटी को सुबह अचानक उल्टी-दस्त होने लगा. उसे जिला अस्पताल लाया गया. इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. अनंत कुमार ने बताया कि जब वह एम्बुलेंस के ड्राइवर के पास गया तो उसने 800 रुपए मांगे. पैसे न होने की बात कहने पर उसने शव ले जाने से मना कर दिया. डॉक्टरों से बात की तो उन लोगों ने शव वाहन का नंबर दिया. उस नम्बर पर फोन करने पर ड्राइवर ने कहा कि गाड़ी में तेल नहीं है. इसी बीच बच्ची का मामा आ गया और अपने बहनोई को रोते बिलखते देखा तो उसने शव को कंधे पर उठाया और साइकिल से 10 किलोमीटर दूर गांव को चल दिया.