गोरखपुर में बदमाशों ने की दवा व्यापारी की हत्या, 15 दिन पहले दी थी जान से मारने की धमकी

58
SHARE

गोरखपुर में गुरुवार की रात दुकान से घर लौट रहे दवा व्यापारी को उसी के घर के पास बदमाशों ने गोली मार दी। इलाज के लिए डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल से मेडिकल कॉलेज ले जाते समय व्यापारी ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। मृतक प्रापर्टी डीलिंग और सूद के कारोबार से भी जुड़ा था।

बेतियाहाता स्थित राजेश मैरिज हाल गली में रहने वाले दवा व्यापारी नीरज रामरायका की अलहदादपुर चौराहे पर दीपक मेडिकल स्टोर के नाम से दुकान है। गुरुवार की रात साढ़े दस बजे के आसपास दुकान बंद कर स्कूटी से वह घर जा रहे थे। गली में घर से तकरीबन दो सौ मीटर पहले मुंह बांधकर खड़े युवक ने उनके करीब आते ही पिस्टल से फायरिंग शुरू कर दी। नीरज बचने के लिए वह स्कूटी लेकर घर की तरफ भागे लेकिन 50 मीटर आगे स्कूटी लेकर सड़क पर गिर पड़े।

गोली की आवाज सुनकर बाहर निकले मोहल्ले के लोग बाहर निकले। खून से लथपथ नीरज को सड़क पर पड़ा देखा। इस बीच नीरज के घर के लोग भी आ गए और उसे लेकर डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल पहुंचे। इएमओ ने नीरज की हालत की गंभीरता को देखते हुए उन्हें इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। रास्ते में ही नीरज ने दम तोड़ दिया। मेडिकल कॉलेज पहुंचने पर डाॅक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

दवा व्यापारी की हत्या की खबर मिलने के बाद मौके पर पहुंचे आइजी मोहित अग्रवाल, एसएसपी आरपी पांडेय ने घरवालों से बातचीत की। नीरज की पत्नी पूनम रामरायका ने बताया कि 15 दिन पहले मोबाइल पर जान से मारने की धमकी मिली थी। फोन किसने किया था इसके बारे में नीरज ने बताया नहीं था।

नीरज रामरायका दवा के कारोबार के साथ ही प्रापर्टी डीलिंग के साथ ही वह सूद के धंधे से जुड़े थे।