फर्रुखाबाद में तीन तलाक पीडि़ता ने थाने में किया आत्मदाह का प्रयास

18
SHARE

फर्रुखाबाद में तीन तलाक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज न होने से आहत महिला ने थाना परिसर में ही आत्मदाह का प्रयास किया। महिला को खुद पर केरोसिन छिड़कते देख थानाध्यक्ष दौड़े और केरोसिन से भरा डिब्बा छीन लिया। पुलिस ने पति, सास व ननद समेत तीन लोगों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। महिला के विरुद्ध भी शांतिभंग की आशंका (धारा 151) में कार्रवाई की गई।

जहानगंज थानाक्षेत्र के गांव जरारी निवासी नगीना बेगम की शादी करीब पांच वर्ष पूर्व गुलरिया निवासी मुजम्मिल से हुई थी। मुजम्मिल गुजरात के बड़ौदा में काम करता है। महिला के मुताबिक, शादी के डेढ़ वर्ष बाद ही मुजम्मिल ने उसे दहेज के लिए प्रताडि़त कर घर से निकाल दिया। उस वक्त वह गर्भवती थी। महिला का कहना है कि उसने पुलिस को तभी तहरीर दी थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। लगभग छह माह पूर्व मुजम्मिल ने फोन पर ही उसे तीन तलाक कहकर दूसरा निकाह कर लिया। नगीना बेगम ने बीती 24 अप्रैल को थाने में इस बाबत प्रार्थनापत्र दिया था लेकिन, पुलिस ने कार्रवाई नहीं की।

गुरुवार को नगीना बेगम अपने साढ़े तीन साल के पुत्र हुसैन बाबू और बड़ी बहन मदीना बेगम के साथ थाने पहुंचीं। वहां मौजूद थाना प्रभारी से उसने कहा कि कई बार तहरीर देने के बाद भी रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई है। इस पर थानाध्यक्ष ने मामला पूछा तो महिला ने पूरी बात बताई। थानाध्यक्ष ने नगीना से दोबारा तहरीर देने को कहा तो वह भड़क गई। उसने कहा कि वह 24 अप्रैल, दो मई और आठ मई को तहरीर दे चुकी है लेकिन, कार्रवाई नहीं हुई। इतना कहकर वह थानाध्यक्ष के पास से उठी और पॉलीथिन में रखा केरोसिन का डिब्बा निकालकर खुद पर छिड़कने का प्रयास करने लगी। यह देख थानाध्यक्ष व अन्य पुलिसकर्मियों के हाथ- पांव फूल गए। आनन-फानन थानाध्यक्ष दौड़ पड़े और केरोसिन से भरा डिब्बा छीन लिया।