बदायूं में दहेज की मांग पूरी न होने पर विवाहिता को फांसी, शव जंगल में फेंका

37
SHARE

बदायूं के बिल्सी क्षेत्र में दहेज की मांग पूरी न होने पर एक विवाहिता की कथित रूप से फांसी चढ़ाकर हत्या कर दी गई और बाद में शव को गांव से दूर जंगल में ले जाकर जला दिया. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) सुरेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि अलीगढ़ जिले के थाना बन्नादेवी क्षेत्र के ग्राम बरौला जाफराबाद निवासी ओम प्रकाश ने अपनी बहन सुनीता (24) की शादी 6 वर्ष पूर्व बिल्सी कोतवाली के ग्राम सिर्मा भोजपुर निवासी कल्लू के साथ की थी.

आरोप है कि शादी के बाद से सुनीता के ससुराल वाले कम दहेज को लेकर प्रताड़ित करने लगे थे और मंगलवार रात नकदी की मांग को लेकर सुनीता और उसके ससुराल वालों में काफी देर तक कहासुनी हुई थी. उसके बाद सुनीता के पति कल्लू और उसके परिवार वालों ने सुनीता की फांसी का फंदा लगाकर हत्या कर दी और रात में उसके शव गांव से दूर जंगल में ले जाकर जला दिया.

सुनीता के मायके के लोगों के अनुसार उनको इसकी सूचना गांव वालों ने दी. पुलिस ने मौके से सुनीता के शरीर की अस्थियों को एकत्रित कर मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया. इस मामले में मृतका के भाई की ओर से पति समेत परिवार के पांच लोगों के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है. मामले की जांच की जा रही है.