अलीगढ़ में पानी पर सांप्रदायिक तनाव, चार महिलाएं घायल

90
SHARE

आज अलीगढ़ के जलाली कस्बा में पानी को लेकर सांप्रदायिक बवाल हो गया। सिंचाई के लिए ट्यूबवेल से पानी नहीं देने से गुस्साए मुस्लिमों ने घर पर धावा बोलकर महिलाओं को पीटा, अभद्रता की। छप्पर में आग लगा दी। घायल चार महिलाएं अस्पताल में भर्ती कराई गई हैं। जिसके विरोध में बजरंग दल ने कस्बे का बाजार बंद करा दिया।

दो घंटे बाद इस आश्वासन पर खोला गया कि शाम तक आरोपी गिरफ्तार कर लेंगे, मगर पुलिस खाली हाथ ही रही। बजरंग दल ने बुधवार को फिर बाजार बंद कराने और चौकी घेरने का एलान किया है। तनाव को देखते हुए पुलिस तैनात है। पीडि़त ने सात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट कराई है।

हरदुआगंज थाना के कस्बा जलाली का विवाद सोमवार को तब हुआ, जब मोहल्ला अबुल फजल निवासी बाचाराम कुशवाह ने बब्बू के बेटे आबाद व जफर को सिंचाई के लिए नलकूप से पानी देने से मना कर दिया। आबाद व जफर के खेत बाचाराम के खेत से सटे हुए हैं। ये हर साल यहीं से सिंचाई करते थे। इन्कार पर दोनों पक्षों में कहासुनी हुई। बाचाराम के भतीजे यश कुमार के मुताबिक मंगलवार सुबह आठ बजे आबाद व जफर घर आए और गालियां देने लगे। विरोध पर फोन करके हथियारबंद दर्जनभर लोग बुला लिए। महिलाओं को खींचकर पीटा। बरामदे के छप्पर में आग लगा दी और चले गए। आग से सामान जल गया। पिटाई से घायल बाचाराम की पत्नी उर्मिला, बेटी रीनू, पुत्रवधू मालती व राजकुमारी को दीनदयाल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बाचाराम ने सात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।