उत्तर प्रदेश में चोटी और चुड़ैल से भ्रम और दहशत, कई घटनाओ के बाद पुलिस की जांच शुरू

137
SHARE

चुड़ैल और चोटीकटवा की दहशत से उत्तर प्रदेश में आगरा, मुथरा, अलीगढ़ हाथरस होते हुए इटावा-कन्नौज तक पहुंच है और देर रात तक लगभग पूरा प्रदेश ऐसी घटनाओं से आक्रांत होने लगा है। हर तरफ भ्रम और दहशत बढ़ने पर पुलिस ने मोर्चा संभाला और मामलों की जांच शुरू कर है। अपवाहों से सावधान रहने को कहा। समाजसेवियों और मनोविज्ञानियों ने भ्रम और विभ्रम से बाहर निकलकर सोचने की अपील की। इस सबके बाद यह बात भी सच के काफी करीब रही कि कोई तो है जो चोटी काट रहा है।

मथुरा में चोटी काटने की 14 और झांसी में तीन, अलीगढ़ में चार, कन्नौज में दो, अमरोहा-जालौन-फर्रुखाबाद-चित्रकूट-शाहजहांपुर-बिजनौर-इटावा में एक और आगरा में चोटी काटने की अनेक वारदाते हुईं हैं। उल्लेखनीय है कि आगरा का मुटनई वह गांव हैं जहां इस अंधविश्वास की पहली शिकार एक महिला हुई थी। उसे बुधवार को आसपास के लोगों ने चुड़ैल बताकर मार डाला गया था।

चोटी कटने मामले पर ए़डीजी एलओ आनंद कुमार ने लोगों से अफवाहों पर ध्यान ने देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि शरारती तत्व अफवाह फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस इस मामले पर नजर रख रही है। दूसरे राज्यों से यह अफवाह फैली है। सभी जिलों के कप्तान अलर्ट कर दिए गए हैं। फिलहाल कोई संगठित अपराध या किसी गिरोह का काम नहीं हैं।

जानकारी के मुताबिक हाथरस के चंदपा में घर में काम कर रही एक महिला की चोटी कटकर गिर गई। इससे लोगों में दहशत का माहौल है। इटावा में रात महिला बाल काटने वालों से बचाव की कोशिश में घायल हो गई। अलीगढ़ के खैर कस्बे में टहल रही एक महिला को आज चोटी काटने वाली के शक पकड़कर अभद्रता की गई। अलीगढ़ के गांव मादक में एक युवती व महिला की चोटी कटने की पुलिस जांच कर रही है। झांसी के लोहर और दवाकर और बिजौली गांव में 3 महिलाओं की चोटी काटी गई।

कन्नौज के गांव त्योर में दो महिलाओं की चोटी कटी मिली। गांव की सुधा (30) पत्नी लक्ष्मण शंखवार अपने खेतों की तरफ गई थी। वापस लौटने के बाद मुंह धोकर चोटी करने लगी तो बाल गायब मिले। इसी तरह गांव की एक अन्य महिला की चोटी कटने की बात सामने आई है। उसकी गांव वाले जानकारी कर रहे हैं। इससे गांव में दहशत फ़ैल गई है। आसपास के लोग भी जानकारी लेने पहुंच गए। पीड़ित ने कटे बाल भी लोगों को दिखाए।

बरेली के पुरवा बब्बन खां में रहनुमा की चोटी सुबह कटी मिली। बदायूं के मौजमपुर में हेमराज जाटव की पत्नी की चोटी दोपहर में सोते समय कट गई। शाहजहांपुर के कुलुआबोझ देवेंद्र की पत्नी रोशनी दरवाजे पर बैठी थी। अचानक चोटी कटी देख वह बेहोश हो गई। आगरा के खेड़ा भगौर में चंद्रभान की बेटी रेखा के बाल सुबह कटे मिले। बघा गांव में राधा की चोटी कट गई। आगरा के दयालबाग में सोकर उठने पर मुन्नी देवी के बाल कटे मिले। मथुरा के भैंस बहोरा में रामा सैनी की चोटी कटने से तबीयत बिगड़ गई। उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया।

फीरोजाबाद के आमरी गांव में सोते में किशोरी की चोटी कटी। अलीगढ़ के गांव नरवारी निवासी रचना और इसी गांव की साजिदा की चोटी सुबह कटी मिली। कजरौठ निवासी हसीना बेगम की दोपहर में सोते समय किसी ने चोटी काट दी। बलुआपुर में भी महिला की चोटी कट गई। एसएसपी राजेश पांडेय का कहना है कि इस तरह की घटनाओं को अंजाम देने वाले असामाजिक तत्वों पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। टीम गठित कर दी है। हाथरस के चंदपा में गीता पत्नी योगेश चोटी के कटे बाल देख बेहोश हो गई। चिकित्सक ने महिला को हाईपरटेंशन की मरीज बताया। पड़ोसियों ने बताया कि उसे दौरे भी पड़ते हैं।

हिंदू धर्म से जुड़े साहित्य में भूत-चुड़ैल से बचने के उपाय कहे गए हैं। सुश्रुत संहिता और चरक संहिता में प्रेत बाधा पीड़ित रोगी के लक्षण और निदान के उपाय हैं। ज्योतिष के मूल ग्रंथों- प्रश्नमार्ग, वृहत्पराषर, होरा सार, फलदीपिका, मानसागरी आदि में ज्योतिषीय योग प्रेत पीड़ा, पितृ दोष आदि बाधाओं से मुक्ति का उपाय बताते हैं। अथर्ववेद में भूत-चुड़ैल और दुष्ट आत्माओं को भगाने से संबंधित अनेक उपायों का वर्णन है।