संसद परिसर के ATM में ही पैसे नहीं तो गांवों के हालात के बारे में सोचिए: गुलाम नबी आजाद

16
SHARE
राज्यसभा में कार्यवाही शुरू होते ही हंगामा हुआ। कांग्रेस ने कहा कि संसद परिसर में लगे एटीएम में ही पैसे नहीं हैं तो गांवों में कैश कैसे मिलेगा? बता दें कि नोटबंदी पर विपक्षी पार्टियां सरकार के खिलाफ हैं। राज्यसभा में चर्चा शुरू हुई पर आगे नहीं बढ़ सकी। दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी।संसद में सोमवार को भी हंगामा हुआ। इससे पहले टीएमसी ने संसद परिसर में गांधी मूर्ति के सामने विरोध किया|
सदन में लीडर ऑफ अपोजिशन गुलाम नबी आजाद ने कहा, ”संसद परिसर में सरकारी कर्मचारी और पेंशनर्स पैसे नहीं ले पा रहे हैं।सरकार को बताना चाहिए कि फाइनेंशियल इमरजेंसी लग गई है क्या? गांवों में कैश कैसे मिलेगा? संसद के अंदर जो एटीएम है वो और लाइब्रेरी के एटीएम खराब पड़े हैं।” वेल में आकर विपक्षी सांसदों की नारेबाजी के बाद राज्यसभा को स्थगित कर दिया गया|
 सोमवार सुबह 10 बजे अपोजिशन पार्टी के नेताओं ने मीटिंग की।इसमें कांग्रेस, टीएमसी और सपा के नेता शामिल थे।
 अपोजिशन पीएम की मौजूदगी में राज्यसभा में चर्चा की मांग कर रहा है|