ICSE बोर्ड नतीजे: यूपी के 17 छात्र मेरिट लिस्ट में

28
SHARE

सोमवार को काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जाम (CISCE) ने 10 और 12 के रिजल्ट की घोषणा कर दी है। 12वीं में यूपी के 17 छात्रों को ऑल इंडिया टॉपर लिस्ट में जगह मिली है। 12वीं में 7 स्टूडेंट्स फर्स्ट पोजिशन को शेयर कर रहे हैं। जिसमें से यूपी की लिपिका अग्रवाल, राधिका चंद्रा, समन वाहिद और साक्षी प्रद्युम्न ने 99.50 प्रतिशत अंकों के साथ संयुक्त रूप से पहले स्थान पर रहीं। बता दें, कि इस साल ICSE कक्षा 10 के लिए 1.8 लाख स्टूडेंट्स और ISC (कक्षा 12) में 81,000 स्टूडेंट्स ने परीक्षा दी थी।

आईएससी 12वीं के अखिल भारतीय और विदेश मेरिट लिस्ट में सात में से तीन स्टूडेंट सीएमएस स्कूल लखनऊ के हैं। सीएमएस जी. राधिका चंद्रा ने 99.50 प्रतिशत स्कोर किया है, जबकि यहीं की समन वहीद ने 99.50 फीसदी और साक्षी प्रद्युम्न ने 99.50 फीसदी अंक हासिल किए। टॉपरों की लिस्ट में इनके अलावा लखनऊ पब्लिक स्कूल, लखीमपुर खीरी की लिपिका अग्रवाल भी हैं।

यूपी से 10वीं में टॉपर श्रेया भगत रही। श्रेया ने 99.80 प्रतिशत अंक हासिल किए। श्रेया को यूपी में पहली और ऑल इंडिया चौथा स्थान मिला है। वहीं, ICSE बोर्ड इंडिया में ऑल इंडिया 5वां स्थान और यूपी में दूसरी पोजिशन खुशी वर्मा ने हासिल की। इन्हें 98.60% अंक मिले हैं।

इस बार दक्षिणी क्षेत्र के छात्रों का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है। दक्षिणी क्षेत्र में 99.69 फीसदी स्टूडेंट उत्तीर्ण रहे। इसके बाद पश्चिमी क्षेत्र का प्रदर्शन रहा, जहां 98.38% छात्रों ने सफलता पायी। जबकि उत्तरी क्षेत्र में 95.97 फीसदी छात्र पास हुए। अन्य क्षेत्रों की तुलना में पूर्वी क्षेत्र का प्रदर्शन फीका रहा। इस क्षेत्र के 95.85 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए हैं।

फर्स्ट पोजिशन हासिल करने वाली राधिका चंद्रा ने बताया कि वो आगे चलकर अपने मां-पिता की तरह ही डॉक्टर बनने की इच्छा रखती हैं। राधिका ने 8 से 10 घंटे रोज पढ़ाई की है। समन वहीद 99.50% अंक प्राप्त किए हैं। समन आगे चलकर आईएएस बनने की इच्छा रखती हैं। समन ने 5 से 6 घंटे की नियमित स्टडी की है। इनके पिता वाहीद्दुदिन सिविल इंजीनियर हैं। ये आगे चलकर आईएएस बनकर गर्ल्स के लिए कुछ अच्छा करने की इच्छा रखती हैं।

साक्षी प्रद्युम्न 99.50% अंक प्राप्त किए हैं। उन्होंने बताया कि उनके पिता डॉ लक्ष्मी रमन रेलवे में इंजिनीयर हैं। ये भी आगे कंप्यूटर साइंस में इंजीनियर बनना चाहते हैं। लखनऊ पब्लिक स्कूल की लखीमपुर ब्रांच में लिपिका 99.5 अंक पाकर आईसीएसई बोर्ड के कक्षा 12वीं की बनी इंडिया टॉपर। इन्होंने उन सात लोगो में जगह बनाई है, जिन्होंने फर्स्ट पोजिशन हासिल की है। जनपद लखीमपुर खीरी का नाम किया रोशन। प्रिंसीपल अरविंद कुमार ने दी जानकारी। विद्यालय में उत्सव जैसा माहौल।

श्रेया भगत आईपीएस एसके भगत की बेटी हैं। इन्होंने 10वीं में 98.80% अंक हासिल किये हैं। ये आगे साइंस स्ट्रीम फॉलो करेंगी। श्रेया पीसीएम के साथ 12वीं में बायो ले रही हैं। ये आगे साइंस स्ट्रीम फॉलो करके आईटी सेक्टर में करियर बनाना चाहती हैं।

इब्राहिम को 12वीं में 99% अंक हासिल हुए हैं। पिता मोहम्मद अजीम रीयल एस्टेट के काम में हैं। ये बीटेक करके कंप्यूटर साइंस में करियर बनाना चाहते हैं। मां नसरीन गृहणी हैं। ये प्रतिदिन 4 घंटे पढाई करते थे। उत्कर्ष को 12वीं में 99% अंक मिले हैं, पिता अलोक निगम ठेकेदार हैं। मां संतोष निगम गृहणी हैं। इनका मानना है कि टीचर्स ने जो क्लास में पढ़ाया वो ध्यान से पढ़े। रोज 5 घंटे पढ़ते थे। ये कंप्यूटर इंजीनयर बनना चाहते हैं।

सौम्य शिखर को 12वीं में 99% अंक मिले हैं, पिता निखिल मिश्रा बिजनेसमैन हैं। मां अंजू मिश्रा गृहणी हैं। 5 घंटे पढ़ते थे। आईएएस बनने की इच्छा रखते हैं। ताकि देश सेवा कर सकें। पहले बीटेक करेंगे फिर आईएएस बनेंगे। सभी टॉपर्स बच्चों ने कहा कि उन्हें सोशल मीडिया में ज्यादा वक्त देना पसंद नहीं है।

रिचेक के लिए 21 मई तक का समय दिया गया है। यदि कोई स्टूडेंट अपने परिणाम से संतुष्ट नहीं है तो ऑनलाइन के जरिए 14 मई से 21 मई के बीच कभी भी रिक्वेस्ट फाइल कर सकता है।

source-Dainik Bhaskar