मैं पुरानी शराब की तरह, वक्त के साथ बेहतर होता जा रहा हूं: महेंद्र सिंह धोनी

26
SHARE

महेंद्र सिंह धोनी की बल्लेबाजी में बीते कुछ समय से निरंतरता का अभाव रहा है लेकिन वह खुद को शराब की तरह मानते हैं जिसका स्वाद वक्त के साथ-साथ बेहतर होता जाता है। वेस्ट इंडीज के खिलाफ 79 गेंदों पर खेली गई उनकी 78 रनों की पारी की बदौलत भारत एक विजयी स्कोर बना सका। इस मुश्किल विकेट पर धोनी संयम भरी पारी खेलकर खुश हैं। टीम की तीन बल्लेबाजों के पविलियन लौटने के बाद धोनी ने टिककर बल्लेबाजी की।

धोनी से जब पूछा गया कि आखिर कैसे वह वक्त के साथ-साथ बेहतर होते जा रहे हैं: ‘यह शराब की तरह है’। मुश्किल विकेट पर ऐसी पारी खेलना वाकई संतोषजनक रहा। धोनी ने कहा, ‘पिछले करीब एक-डेढ़ साल से हमारा टॉप ऑर्डर ही ज्यादातर रन बना रहा है तो ऐसे में मौका मिलना और रन बनाना अच्छा लगता है।’ वनडे के बेस्ट फिनिशर कहे जाने वाले धोनी ने कहा कि इस विकेट पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं था और यही इस पारी को खास बनाता है।