हमारे हमलों से घबराए PAK ने कार्रवाई रोकने को कहा: पर्रिकर

6
SHARE
डिफेंस मिनिस्टर ने शुक्रवार को गोवा के पास एक रैली में कहा- “पिछले दो दिनों में सीमा पार से हो रही गोलीबारी रुक गई है, क्योंकि अब दुश्मन को समझ आ गया है कि उसे मुंहतोड़ जवाब मिलेगा।” उन्होंने ये भी कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से ही बॉर्डर पर लगातार हमले हो रहे थे, जिनका इंडियन आर्मी ने मुंह तोड़ जवाब दिया है। बता दें कि 29 सितंबर को हुई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान 300 से ज्यादा बार सीजफायर वॉयलेशन कर चुका है|
कुपवाड़ा के माछिल सेक्टर में मंगलवार को पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) ने भारतीय गश्ती दल पर घात लगाकर हमला किया। इसमें तीन जवान शहीद हो गए। प्रभु सिंह का शव क्षत-विक्षत कर दिया था। इस दौरान पाकिस्तान ने भिम्बर गली, कृष्णा घाटी और नौशेरा सेक्टर समेत पांच जगहों पर सीजफायर वॉयलेशन किया था। इसके जवाब में भारत ने पूरे एलओसी पर जवाबी कार्रवाई की। 24 घंटे के अंदर ही पाकिस्तान के भी 3 सैनिक मार गिराए। पाकिस्तान ने दावा किया कि उसके 11 आम लोग भी भारत की फायरिंग में मारे गए हैं|
डीजीएमओ लेवल की इस मीटिंग में भारत ने पाकिस्तान से स्पष्ट कहा, “POK या सीमा से लगे इलाके में सीज फायर वायलेशन या फिर आतंकी घुसपैठ जैसी घटनाओं को अंजाम दिया गया तो भारत की ओर से करारा जवाब दिया जाएगा।’भारतीय डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा था कि LOC पर हालात सामान्य करने के लिए पाकिस्तान ने हॉटलाइन पर इस बात के लिए पहल की थी।रणबीर सिंह ने कहा, “सिविलियंस की मौतों पर भारत को गहरा दुख है। लेकिन, हमारे जवानों ने उन लोकेशंस को निशाना बनाया जहां से इंडियन पोस्ट्स पर फायरिंग की जा रही थी।”उधर, विदेश मंत्रालय ने भी LoC पर सीजफायर वॉयलेशन, भारतीय जवानों की मौत और उनके शव के साथ बर्बरता का विरोध किया था। MEA ने पाकिस्तानी डिप्टी हाई कमिश्नर को समन भी भेजा है|
 इंडियन आर्मी माछिल, पुंछ, केल और राजौरी सेक्टर में जोरदार कार्रवाई की। इस दौरान पाकिस्तान की 4 चौकियों को निशाना बनाया गया। कार्रवाई के दौरान इंडियन आर्मी ने 120 मिमी के भारी मोर्टार और मशीन गनों का इस्तेमाल किया गया। बता दें कि 29 सितंबर को एलओसी पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक के पाकिस्तान 300 बार सीजफायर वॉयलेशन कर चुका है|