मंत्री ने सिर पर हाथ फेरा, तो रोने लगे बच्चे, आप चली जाएंगी तो फिर मारेंगे, खाने को नहीं देंगे

16
SHARE

शुक्रवार को यूपी सरकार में समाज कल्याण एवं अनुसूचित जाति जनजाति राज्यमंत्री गुलाब देवी ने राजकीय संप्रेक्षण गृह (किशोर) पर छापा मारा। वहां निरुद्ध किशारों से मंत्री ने बात की, तो बच्चो की हालत के बारे में पता चला, निरीक्षण के दौरान विभिन्न अपराध में निरुद्ध किशोरों से मंत्री ने बातचीत की। इस दौरान मंत्री ने जब बच्चों के सिर पर हाथ फेरा, तो बच्चे रोने लगे। मंत्री के साथ वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी करने वाले भी थे।

एक किशोर ने मंत्री को अपने जख्म दिखाते हुए बताया कि उसे पेड़ से बांध कर पीटा गया। साथ ही अन्य ने भी अपनी दास्तान सुनाते हुए बताया कि यहां बीमार होने के बाद भी उपचार नहीं कराया जाता है। उनसे टॉयलेट्स की गंदगी साफ करवाई जाती है। साथ ही झूठे बर्तन साफ करवाने के अलावा पानी भरवाने का भी काम करवाया जाता है। मंत्री ने किशोरों से पूछा आपको खाने में क्या दिया जाता है। तो बच्चे ने बताया उन्हें नाश्ते में सिर्फ एक पूरी दी जाती है। किशोरों ने कहा कि आप चली जाएंगी तो फिर मारेंगे। खाने को नहीं देंगे। गेट पर मिलने नहीं देंगे।

मंत्री ने वहां मौजूद अधि‍कारियों को चेतावनी दी कि यहां से चन्दौसी दूर नहीं है। कई किशोरों को अपना फोन नंबर भी दिया। फिर हालचाल जानने के लिए आऊंगी। अब कोई आंख उठाकर नहीं देख सकेगा। राज्यमंत्री गुलाब देवी ने बताया निरीक्षण में पता चला कि बीमार होने पर किशोरों को एक ही गोली दी जाती है। हर मर्ज की दवा पैरासिटामॉल ही है।
संप्रेक्षण गृह में सुधार के लिए आए किशोरों को पेड़ से बांध कर पीटा जाता है। रसोइये का काम करवाया जा रहा है। परिजन मिलने आते हैं, उनसे पैसे छीन लिए जाते हैं। पिछली सरकार के अधिकारियों के दृष्टि राक्षसी है। आप खुद देख सकते हैं कि किसी भी बच्चे के चेहरे पर हंसी नहीं है। इसकी वीडियो एवं जांच रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपी जाएगी। पिछली सरकार के अधिकारी अपनी मानसिकता नहीं बदल रहे हैं।