जीएसटी गरीबों और छोटे कारोबारियों के ऊपर लादा गया टैक्स: राहुल गांधी

34
SHARE

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान के बांसवाड़ा में आयोजित किसान आक्रोश रैली में कहा, ”कर्नाटक में सिद्धारमैया और पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह अगुवाई में कांग्रेस की सरकार बनी थी, इन दोनों मुख्यमंत्रियों ने 24 घंटे में किसानों का कर्ज माफ कर दिया.”

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के दबाव में आकर उत्तर प्रदेश में बीजेपी की योगी सरकार ने किसानों का कर्ज माफ करने का फैसला लिया है. बीजेपी सरकार ने जीएसटी को धूमधाम के साथ लागू करने के लिए आधी रात को चुना. मैंने उनसे पहले ही कहा था कि जीएसटी गरीबों और छोटे कारोबारियों के ऊपर लादा गया टैक्स है. ये केवल अमीरों का ध्यान रखते हैं, गरीब के साथ कुछ भी हो जाए, इन्हें मतलब नहीं है, यही बीजेपी और RSS की सच्चाई है.

राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी जीएसटी लागू करने के लिए आधी रात को संसद का विशेष सत्र बुला लेती है, लेकिन किसान की आवाज को संसद में उठाने की अनुमति नहीं दी जाती है.

किसान आक्रोश रैली में कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि जब कोई अमीर, पूंजीपति बैंक जाता है तो उसके लिए रेड कॉर्पेट बिछाया जाता है. उनसे पूछा जाता है आप कितना कर्ज लेंगे. वहीं एक गरीब, मजदूर जब बैंक जाता है तो उसके लिए दरवाजे बंद होते हैं. हमसे और सोनिया गांधी से जब किसान मिलने आते हैं तो वे बैंकों का दरवाजों खुलवाने को कहते हैं. किसान हमसे मिलते हैं तो वे हमें मनरेगा के लिए शुक्रिया करते हैं, वे कहते हैं कि आपने देश के हर मजदूर को रोजगार दिया, इसलिए हम पूरी तरह आपके साथ हैं.

यह किसान आक्रोश रैली राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए आयोजित किया गया है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट का कहना है कि राहुल गांधी किसानों की पीड़ा सुनने और सरकार तक पहुंचाने के लिए यहां आ रहे हैं, क्योंकि सरकार किसानों की स्थिति सुधारने के लिए कुछ नहीं कर रही है.

मध्यप्रदेश में डेढ़ माह में 45 किसान आत्महत्या कर चुके हैं और छह किसानों को पुलिस गोलियों से भून चुकी है, जबकि छत्तीसगढ़ में 15 दिनों में 12 किसान आत्महत्या कर चुके हैं.