युवाओं को रोजगार नहीं, किसान खुदकुशी कर रहे हैं, जवान सीमा पर मारे जा रहे हैं, किस बात का जश्न

41
SHARE

केंद्र में मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर बीजेपी ग्रैंड सेलिब्रिशन पर कांग्रेस ने कहा है की किस बात का सेलिब्रिशन है, राहुल गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल से एक के बाद एक दो ट्वीट किए और पूछा कि युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा, किसान खुदकुशी कर रहे हैं, जवान सीमा पर मारे जा रहे हैं, ऐसे में किस बात का जश्न मनाया जा रहा है?ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट ने भी बीजेपी के इस जश्न पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा की जनता इन्टॉलरेंस से आजादी चाहती है।

– मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर बीजेपी 26 मई से 15 जून तक कई समारोह करने जा रही है। पार्टी और सरकार की ओर से ये प्रोग्राम किए जाएंगे।
– केंद्र सरकार 25 मई को न्यू इंडिया कैंपेन का आगाज करने जा रही है। मोदी 26 मई को गुवाहाटी से देश की जनता को एड्रेस करेंगे।
– पीएम इसी दिन बेंगलुरु, दिल्ली, जयपुर, कोटा, कोलकाता और पुणे, इनमें से किसी 4 शहरों का दौरा कर सकते हैं।
मोदी 2 करोड़ लोगों को लेटर भी लिखेंगे
– मोदी आम लोगों को दो करोड़ लेटर लिखेंगे, 15 दिन में 10 करोड़ लोगों को SMS भेजने की भी योजना है।
– 27-28 मई को सभी केंद्रीय मंत्री मीडिया को ब्रीफ करेंगे और नॉन पॉलिटिकल लोगों से मिलेंगे।
– हर मंत्रालय को बुकलेट जारी करने को कहा गया है, जिसमें UPA और NDA सरकार के कामों का कंपेरिजन रहेगा।
– सरकार किसान, मजदूर, वूमन, यूथ, दलित और बैकवर्ड क्लास पर भी फोकस करेगी।
900 शहरों में सेलिब्रेशन की तैयारी
– बीजेपी की देश के 900 शहरों में सेलिब्रेशन की तैयारी है। केंद्र के हर मंत्री को 4-4 शहरों में पहुंचने का टास्क दिया गया। देश के 500 शहरों में ‘सबका साथ सबका विकास’ प्रोग्राम की तैयारी है।
– 26 मई को देश के 400 अखबारों के फ्रंट पेज पर केंद्र सरकार की उपलब्धियां बताने वाले एेड पब्लिश किए जाएंगे।
– टीवी और रेडियो चैनल्स पर भी अचीवमेंट के आधे और एक मिनट के एेड चलेंगे।
– बीजेपी अपनी टैग लाइन ‘देश बदल रहा है’ के साथ एक नई लाइन ‘भारत उभर रहा है’ भी जोड़ सकती है।
– ऐसे राज्य, जहां बीजेपी कमजोर है और जहां उसकी सरकार नहीं है वहां पार्टी 300 मल्टीमीडिया एग्जीबिशन लगाएगी।
कांग्रेस की भी तैयारियां
– उधर, कांग्रेस ने भी अपने सीनियर लीडर्स को केंद्र सरकार की नाकामियां उजागर करने का जिम्मा सौंपा है।
– पार्टी सूत्रों के मुताबिक, सीनियर लीडर्स 10 दिन तक केंद्र सरकार की नाकामियां मीडिया के सामने लाएंगे। बताया जाएगा कि
पॉलिटिकली, इकानॉमिकली, डिफेंस और सिक्युरिटी लेवल पर किस तरह से नाकामी हाथ लगी।