आर्थिक विकास दर में आयी भारी गिरावट, नोटबंदी का असर दिखा

41
SHARE

देश की आर्थिक विकास दर यानी जीडीपी ग्रोथ के आंकड़े आ गए हैं. वित्त वर्ष 2016-2017 में देश की आर्थिक विकास दर 7.1 फीसदी रही है. 2016-17 में विकास दर 7.1 फीसदी रही जबकि 2015-16 में विकास दर 8 फीसदी थी. नोटबंदी के तुरंत बाद की तिमाही जनवरी-मार्च में विकास दर घटकर 6.1 फीसदी रही जबकि जबकि जनवरी-मार्च 2016 में विकास दर 8.7 फीसदी थी. 2016-17 में विकास दर के आंकड़ों से जीडीपी पर नोटबंदी के असर का संकेत मिलता है .केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) के आंकड़ों के मुताबिक 31 मार्च को खत्म वित्त वर्ष में सकल मूल्यवर्धन-ग्रॉस वैल्यू ऐडेड (जीवीए) घटकर 6.6 फीसदी पर आ गया, जो कि 2015-16 में 7.9 फीसदी रहा था. नोटबंदी से 2016-17 की तीसरी और चौथी तिमाही पर असर पड़ा और इन तिमाहियों के दौरान यह घटकर क्रमश: 6.7 फीसदी और 5.6 फीसदी पर आया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाहियों में 7.3 और 8.7 फीसदी रहा था.