केंद्र का 2 करोड़ युवाओं को रोज़गार का वादा झूठा है, लखनऊ में राहुल गांधी

23
SHARE

आज लखनऊ में राहुल और अखिलेश यादव ने प्रेस वार्ता में कहा कि पीएम को सिर्फ गूगल पर सर्च करना और दूसरों के बाथरूम में झांकना पसंद है| उन्हें जो भी जन्मपत्री निकालनी है निकाल लें| राहुल ने आगे कहा कि हम यूपी में युवाओं की सरकार चाहते हैं| यूपी के विकास के लिए 10 एजेंडा बनाया है| इन 10 एजेंडों से भी आगे जाकर काम करेंगे| हम किसानों की मदद करेंगे| हमारी सरकार भाईचारे की सरकार है| यूपी में सबकी सरकार होनी चाहिए| केंद्र का 2 करोड़ युवाओं को रोज़गार का वादा झूठा है| यूपी की 99 प्रतिशत सीट पर कोई समस्या नहीं|

वहीं अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी के लोग अभी भी अच्छे दिनों का इंतजार कर रहे हैं| कुछ लोग सिर्फ मन की बात करते हैं, काम की बात नहीं|

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने राहुल का नाम लिए बगैर कहा कि वह ऐसे राजनेता हैं जिन पर सबसे ज्यादा चुटकुले बनते हैं और जिनसे उनकी पार्टी भी दूरी बनाकर चलना पसंद करती है| अगर आप गूगल करेंगे तो इस कांग्रेस नेता से ज्यादा किसी भी और राजनेता पर चुटकुले नहीं बने होंगे|’ इसके आगे पीएम ने कहा ‘उनके बोलचाल का तरीका और वह ऐसी ऐसी हरकतें करते हैं कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी उनसे 10 फुट दूर रहना पसंद करते हैं|’

इसके साथ ही मोदी ने यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के इस फैसले पर भी सवाल उठाया जिसके तहत उन्होंने कांग्रेस के साथ गठबंधन करने का फैसला लिया| पीएम मोदी ने पूछा ‘जिस नेता से कांग्रेस के बड़े बड़े नेता किनारा करते हैं, अखिलेश जी आपने उसे गले लगा लिया| मुझे आपके विवेक पर संशय हो रहा है|’

उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर तंज कसते हुए कहा था कि बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाना मनमोहन सिंह से सीखें| पीएम मोदी ने कहा कि 30-35 सालों से आर्थिक फैसलों में मनमोहन सिंह की भूमिका रही| इतने घोटाले सामने आए लेकिन मनमोहन सिंह पर दाग नहीं लगा| मनमोहन पर पीएम मोदी की टिप्पणी के बाद सदन में जोरदार हंगामा हुआ और कांग्रेस के सांसदों ने पीएम से माफी की मांग की है|