क‍िसानों की कर्जमाफी उपकार नहीं, उनका अध‍िकार: सीएम योगी

68
SHARE

गुरुवार से सीएम योगी ने लखनऊ में कहा, ”योजनाओं का क्रियान्वन राज्य सरकार के लेवल पर होना है। मोदी सरकार आने के बाद खाद और बीज की समस्या दूर हुई है। क‍िसानों को स्वावलंबी बनाने में सरकार जुटी है। यूपी में तुष्ट‍िकरण की राजनीति नहीं होगी। 2022 तक क‍िसानों की आय दोगुना करने का हमारा लक्ष्य है। 70 लाख क‍िसानों के वेर‍िफिकेशन की कार्रवाई अब तक पूरी हुई। क‍िसानों से र‍िकॉर्ड मात्रा में गेहूं क्रय क‍िया गया। सरकार ने 37 लाख टन गेहूं क्रय क‍िया है। 1 लाख मीट्र‍िक टन आलू खरीदने का लक्ष्य तय क‍िया। अब तक क‍िसी के सरकार के एजेंडे में क‍िसान नहीं रहा। क‍िसानों की कर्जमाफी उपकार नहीं, उनका अध‍िकार है।”

योगी ने आगे कहा, ”15 साल में धर्म और जाति की राजनीत‍ि हुई है। यूपी में पहली बार आलू का समर्थन मूल्य तय हुअा। यूपी में नेताओं के बड़े-बड़े नेताओं के मकान बन जाते थे। कई सरकारों ने जीते जी अपनी मूर्तियां लगवाईं, लेकिन पहली बार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान बनाने के लिए, उसे मेन्टेन करने के लिए हम पैसा देने का काम कर रहे हैं। अब क‍िसान यूपी की राजनीति तय करेग। जनधन खाते से क‍िसानों को लाभ म‍िलेगा। हमने राजनीति को क‍िसान केंद्र‍ित बनाने का काम क‍िया है। अब हम आपकी खतौनी को आधार से ल‍िंक करने जा रहे हैं। क‍िसानों से धोखाधड़ी करने वाले लोग अब ऐसा नहीं कर पाएंगे। उनकी जमीन हड़प नहीं पाएंगे। ऐसे लोगों को कड़ी सजा म‍िलेगी”

सीएम योगी ने लखनऊ में कहा ”नक्सल प्रभाव‍ित इलाकों में 1 लाख 30 हजार रुपए का अनुदान हमने द‍िया है। 6 लाख क‍िसानों को मकान बनाने के ल‍िए पहली क‍िश्त दी गई है। दूध पीने के बाद गायों को सड़कों पर मत छोड़ें। अगर उन्हें माता मानते हैं तो उसके लिए काम कीजिए। हम गौवंश की उन्नत नस्ल के ल‍िए क‍िसानों को मदद कर रहे हैं। अब तक किसानों के पास बिजली कनेक्शन नहीं था, लेक‍िन हमने 7 लाख क‍िसानों को ब‍िज‍ली कनेक्शन देने का काम क‍िया है। यूपी में भू-माफ‍ियाओं को राजनीतिक संरक्षण म‍िलता रहा है। गोचर भूम‍ि को भू-माफ‍ियाओं से मुक्त कराया जा रहा है। एंटी भू-माफ‍िया पोर्टल लॉन्च कर द‍िया गया है। यूपी में ट्रांसफर-पोस्ट‍िंग एक व्यवसाय बन गया था।”

राजनाथ सिंह ने आगे कहा, ”योगी सरकार में क‍िसानों को उपज का उच‍ित दाम म‍िल रहा है। चुनाव के दौरान क‍िया गया कर्जमाफी का वादा 100 द‍िन के अंदर ही पूरा क‍िया। कर्जमाफी के ल‍िए योगी सरकार बधाई की पात्र है। हमारी कथनी और करनी में कोई अंतर नहीं है। कर्जमाफी से क‍िसानों को राहत म‍िलेगी। 100 द‍िन में वादे पूरा करना कोई छोटी बात नहीं है। केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद खाद की कीमत में कमी हुई है। फसल बीमा योजना को लेकर क‍िसान जागरुक हुए हैं। पहलों क‍िसानों को कर्जमाफी के लिए सरकारों से याचना करनी पड़ती थी। प्रति हेक्टेयर 6 क‍िलो अनाज उत्पादन का सरकार का लक्ष्य है। फसल बीमा योजना क‍िसानों के ल‍िए कवच है।”