मोदी की चमक में कमी , उभरे अखिलेश

16
SHARE

पांच राज्यों को विभिन्न खबरिया चैनलों के एक्जिट पोल में सर्वाधिक दिलचस्पी यदि किसी राज्य को लेकर थी, तो वह उत्तर प्रदेश ही था, जहां 403 सीटें हैं। टाइम्स नाऊ, इंडिया टीवी, एबीपी और इंडिया न्यूज के एक्जिट पोल ने भाजपा और उसके सहयोगी दलों को सर्वाधिक सीटें मिलने का अनुमान तो व्यक्त किया है, मगर सिर्फ टाइम्स नाऊ के सर्वे में ही उसे बहुमत मिलता दिखाया गया है। मगर सारे एक्जिट पोल में भाजपा सबसे आगे, उसके बाद समाजवादी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन और तीसरे नंबर पर बसपा को दिखाया गया है|

भाजपा यूपी में भले ही आगे दिख रही हो, मगर सारे एक्जिट पोल का औसत बता रहा है कि वह 180-190 सीटों के बीच बहुमत से पिछड़ जाएगी। यानी वह अपने दम पर सरकार बनाती नहीं दिख रही है। इसका यह भी मतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो दर्जन से अधिक रैलियां भी सरकार बनाने लायक लहर नहीं पैदा कर सकी हैं। यदि यही नतीजे होते हैं, तो इसे इस तरह भी पढ़ा जाना चाहिए कि ब्रांड मोदी की चमक फीकी पड़ी है, क्योंकि भाजपा यदि 180 सीटों पर सिमटती है, तो उसका काम अन्य दलों से नहीं चलेगा, उसे बसपा की ओर हाथ बढ़ाना ही होगा। इसके बाद यह भी संभव है कि नोटबंदी को क्रांतिकारी कदम बताने वाले लोग भी स्वीकार करें कि इससे भाजपा को नुकसान हुआ|