3 फरवरी को CM और राहुल गांधी आगरा मे

25
SHARE

तीन फरवरी को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी आगरा शहर मे होगे, जहां वह रोड शो मे हिस्सा लेगे। राहुल रोड शो के बाद अगले पड़ाव की ओर बढ़ जाएंगे, जबकि अखिलेश उसी दिन आगरा मे दो चुनावी रैलियां भी संबोधित करेगे। आगरा सहित बृज क्षेत्र मे पहले चरण मे 11 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। इसके लिए सभी दल चुनावी प्रचार मे कूद पड़े है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तीन फरवरी को आगरा आएंगे, इसकी पुष्टि सपा खेमे से दो दिन पहले हो चुकी थी। मुख्यमंत्री की इस दिन बाह के जरार, एत्मादपुर और शिकोहाबाद मे चुनावी सभाएं प्रस्तावित थी।|

मगर, कार्यक्रम मे अब बड़ा बदलाव किया है। अब इस दौरे मे मुख्यमंत्री के साथ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हो गए है। सूत्रो के मुताबिक मुख्यमंत्री सुबह दस बजे जरार और उसके बाद शिकोहाबाद की चुनावी रैली को संबोधित करने के बाद दोपहर तीन बजे खेरिया एयरपोर्ट पर उतरेगे। इसी वक्त राहुल गांधी भी एयरपोर्ट पहुंचेगे। फिलहाल जो कार्यक्रम तय हुआ है, उसके मुताबिक दोनो नेता कार से दयालबाग पहुंचेगे, जहां से रोड शो शुरू होगा। रोड शो का रूट फिलहाल तय नही है, लेकिन माना जा रहा है कि एमजी रोड व शहर के अंदर क्षेत्रो से होता हुआ यह बिजली घर पहुंचेगा। वहां दोनो नेता रामलीला मैदान पर जनसभा को संबोधित कर सकते है। राहुल के आगमन के चलते बुधवार को एसपीजी आगरा पहुंच रही है। एसपीजी संभावित रूट का दौरा कर अंतिम मुहर लगाएगी। सूत्रो के मुताबिक यह चुनावी कार्यक्रम तीन से चार घंटे का रहेगा।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के रोड शो को लेकर पार्टी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की टीम भी सक्रिय हो गई है। मंगलवार को टीम पीके के दो वरिष्ठ अधिकारी आगरा पहुंचे। उन्होने कांग्रेस और सपा के नेताओ के साथ संभावित रूट का दौरा किया। सूत्रो के मुताबिक रोड शो की शुरूआत दयालबाग से होगी। यहां से भगवान टाकीज, दीवानी, सूरसदन, वजीरपुरा, सेट पीटर्स होते हुए रोड शो हरीपर्वत चौराहे पर वापस एजमी रोड पर पहुंचेगा। यहां से सेट जोस कॉलेज, आगरा कॉलेज, पंचकुईयां, सुभाषपार्क, नाई की मंडी, कलक्ट्रेट होते हुए स्टेट बैक वाली मोड़ से छीपीटोला की ओर मुड़कर बिजली घर पहुंचेगा। यहां पर रामलीला मैदान पर दोनो नेताओं की एक जनसभा भी आयोजित की जाएगी|

कांग्रेस और सपा के चुनावी रणनीतिकार संभावित रूट को अधिक प्रभावशाली नही मान रहे है। उनका मानना है कि दोनो नेताओ का रोड शो अगर मुस्लिम आबादी फव्वारा, ढोलीखार, मंटोला होते हुए बिजली घर पहुंचेगा तो ज्यादा असरदार होगा। चार महीने पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष ‘राहुल संदेश यात्रा’ पर इसी रास्ते से होकर गुजरे थे। लेकिन, इस रूट को लेकर सबसे बड़ी समस्या मुस्लिम क्षेत्रो मे खुले पड़े बिजली के तार है। दरअसल, लखनऊ मे रोड शो के दौरान अखिलेश यादव व राहुल गांधी को सड़क पर लटक रहे बिजली के तारो की वजह से बेहद परेशानी का सामना करना पड़ा था और खासी किरकिरी भी उठानी पड़ी थी। सोशल मीडिया पर तारो से झुककर बचते दोनो नेताओ की तस्वीरे सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुई थीं। लोगो ने प्रदेश के विकास को लेकर कमेट कसे थे। रणनीतिकार दोबारा ऐसी स्थिति नही आने देना चाहते। ऐसे मे इस रूट को लेकर कम ही संभावना व्यक्त की जा रही है। ऐसे मे कम ऊंचाई वाला रथ मंगाने पर भी विचार हो रहा है।

रोड शो का रूट इस तरह से तैयार किया जा रहा है कि इसका असर शहरी क्षेत्र की तीनो विधानसभाओ आगरा उलार, आगरा दक्षिण व आगरा छावनी पर पड़े। आगरा उलार से सपा उम्मीदवार अतुल गर्ग, आगरा दक्षिण से कांग्रेस के नजीर अहमद और छावनी से सपा की ममता टपलू चुनाव मैदान मे है|