ऑनलाइन परीक्षाओं में धांधली करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, दस गिरफ्तार

14
SHARE

उत्तर प्रदेश की एसटीएफ टीम ने कानपुर से ऑनलाइन परीक्षाओं में धांधली करने वाले गिरोह के दस सदस्यों को गिरफ्तार किया है. इनके पास से कंप्यूटर, लैपटाप, राउटर, फर्जी मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस तथा कई बैंक की पासबुक समेत तमाम सामान जब्त किये गये हैं.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एटीएफ) अमित पाठक ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पकड़े गये इन अभियुक्तों में बीटेक एवं अन्य उच्च शिक्षा प्राप्त अपराधियों का गिरोह है. यह संगठित गिरोह ऑनलाइन होने वाली परीक्षाओं में ‘पेपर साल्वर’ का काम करता था. इस गिरोह के सदस्य इलाहाबाद, गोरखपुर, लखनऊ, उन्नाव, कानपुर, मुरादाबाद, रूड़की तथा बहुत से ऑनलाइन परीक्षा केंद्रो के परीक्षा लेने वाले कर्मचारियों को मिलाकर आनलाइन परीक्षा के प्रश्नपत्र हल करते थे.

उन्होंने बताया कि इस गिरोह का पता गत 22 अप्रैल को रेलवे भर्ती बोर्ड की ऑनलाइन परीक्षा के दौरान लगा. इलाहाबाद के एक केंद्र पर हो रही परीक्षा में परीक्षार्थियों को लाभ पहुंचाने के लिये दूर बैठे गिरोह को पकड़ा गया. पूछताछ के दौरान पता लगा कि ऑनलाइन परीक्षा में सेंध लगाते हुये परीक्षार्थी के कंप्यूटर नोट की रिमोट एक्सेस कर प्राप्त कर ली जाती है और दूर बैठा साल्वर परीक्षार्थी के बजाय स्वयं प्रश्नों का उत्तर देकर परीक्षार्थी और उसके अभिवावकों से मोटी रकम ऐंठता था.

उन्होंने बताया कि एसटीएफ इस गिरोह को पकड़ने में लगी थी, अब जाकर इस पूरे गिरोह का पर्दाफाश कर दस लोगो को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार लोगों में कृष्णन प्रसन्ना बीटेक है. रविकांत वर्मा, रूपेश वर्मा, आलोक सिंह, रवीन्द्र सिंह, अभिषेक, अंकुर कुमार, सुनील कुमार, कमल शर्मा और रजत सचान शामिल है। ये सभी उच्च शिक्षा प्राप्त हैं.

एसटीएफ को इनके पास आनलाइन परीक्षा में इस्तेमाल होने वाला काफी सामान बरामद किया है.