साइकिल को फ्रीज कर सकता है इलेक्‍शन कमीशन

10
SHARE
इलेक्‍शन कमीशन समाजवादी पार्टी में चल रहे विवाद के कारण साइकिल को फ्रीज कर सकता है|सोमवार शाम मुलायम सिंह यादव दिल्ली में कमीशन के दफ्तर पहुंचे और साइकिल पर अपना हक जताया। अखिलेश गुट की तरफ से रामगोपाल यादव मंगलवार को कमीशन से मुलाकात करेंगे। मुलायम ने 5 जनवरी को होने वाले आपात अधिवेशन को रद्द कर दिया है। इससे पहले, मुलायम ने दिल्ली रवाना होने से पहले कहा कि साइकिल के चुनाव चिह्न पर हमारा हक है।
मुलायम जब ईसी के दफ्तर पहुंचे तो उनके साथ शिवपाल यादव, अमर सिंह और जयाप्रदा भी थीं।मुलायम ने ईसी के सामने पुरानी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष होने का दावा किया और साइकिल सिंबल पर हक जताया।मुलायम ने सोमवार को दिल्ली निकलने से पहले कहा- “मैं बीमार नहीं हूं। आप देखिए, मैं ठीक हूं।मीडिया ने हमेशा मेरा साथ दिया है। मैंने कोई गलत काम और करप्शन नहीं किया है। इल्जाम लगा भी तो सुप्रीम कोर्ट ने मुझे बरी कर दिया|पार्टी सिंबल के विवाद पर कहा कि साइकिल तो मेरी ही है|”
अखिलेश और मुलायम ने यूपी चुनाव के मद्देनजर विधानसभा कैंडिडेट्स की अलग-अलग लिस्‍ट जारी की है। अब पार्टी के इस झगड़े में दोनों ही खेमे पार्टी के सिंबल (साइकिल) से चुनाव लड़ना चाहते हैं इसी को लेकर सोमवार को दिल्‍ली में आगे की रणनीति तय हो सकती है|
शिवपाल यादव ने सोमवार को दो ट्वीट किए। पहले ट्वीट में लिखा- “नेताजी के आदेशानुसार समाजवादी पार्टी का 5 जनवरी का अधिवेशन फिलहाल स्थगित किया जाता है।”दूसरे ट्वीट में बताया- “सभी नेता और कार्यकर्ता अपने-अपने क्षेत्र में चुनाव की तैयारियों में जुटें और जीत हासिल करने के लिए जी-जान से मेहनत करें|”
रविवार सुबह लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क में पार्टी महासचिव रामगोपाल ने अधिवेशन बुलाया था। इसमें मुलायम को हटाकर अखिलेश को पार्टी का नेशनल प्रेसिडेंट बनाए जाने का एलान किया गया था।शाम को शिवपाल के ईमेल से मुलायम के दस्तखत वाला एक लेटर जारी किया गया। इसमें लिखा था कि रामगोपाल को फिर पार्टी से बाहर कर दिया गया है।शिवपाल यादव ने दिल्ली में कहा- “नेताजी इस वक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, आगे भी रहेंगे। हम नेताजी के साथ मरते दम तक रहेंगे|”
अमर सिंह ने कहा- “अगर उनके (मुलायम) साथ रह के कभी नायक बने, तो अगर खलनायक भी बने तो बनने को तैयार हैं।मुलायम सिंह ने एक बार कहा था कि अमर सिंह दल में नहीं दिल में रहते हैं। अगर वो मुझे दिल से निकालते हैं, तो यह खेद का बात होगी।” बता दें कि अमर सिंह सोमवार को लंदन से दिल्ली लौटे।