ED के पूर्व संयुक्त निदेशक रिश्वत के आरोप में गिरफ्तार

12
SHARE

भ्रष्टाचार के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने प्रवर्तन निदेशालय के पूर्व संयुक्त निदेशक जेपी सिंह समेत तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों की गिरफ्तारी आईपीएल नीलामी के एक दिन बाद हुई है। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक गिरफ्तार किए गए लोगों में प्रवर्तन निदेशालय के ही एक अधिकारी संजय सिंह भी शामिल हैं। सीबीआई ने आईएएस अधिकारी बीएल अग्रवाल और दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है। इन लोगों पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि इन लोगों को भी उसी केस में गिरफ्तार किया गया है या किसी अन्य केस में|

गिरफ्तार किए गए जेपी सिंह पर रिश्वत लेने का आरोप है। सिंह पर आरोप है कि उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग में हुए सट्टाबाजी प्रकरण की जांच के दौरान व कथित हवाला ऑपरेटर अफरोज फत्ता के 500 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग केस की जांच के दौरान रिश्वत ली थी। सीबीआई ने वित्त मंत्रालय की ओर से एक शिकायत के आधार पर 2015 में 2000 बैच के इस आइआरएस अधिकारी और अन्य लोगों के खिलाफ आइपीसी की भ्रष्टाचार रोधी धाराओं में केस दर्ज किया था।जेपी सिंह ED अहमदाबाद के पूर्व संयुक्त सचिव थे। वह आइपीएल में सट्टेबाजी के गिरोह और हवाला कांड की जांच कर रहे थे। जेपी सिंह और दो अन्य अधिकारियों पर आरोप हैं कि उन्होंने जांच के दौरान केसों के आरोपियों को धमका कर उनसे पैसे ऐंठने का काम किया था|