क्रिमिनल बैकग्राउंड के धनंजय सिंह निर्बल इंडियन शोषित हमारा आमदल पार्टी के टिकट पर लड़ेंगे

73
SHARE

बसपा के पूर्व सांसद धनंजय इस बार निर्बल इंडियन शोषित हमारा आमदल पार्टी के टिकट पर लड़ेंगे। मल्हनी से पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने पॉलिटिकल करियर की शुरुआत ही क्रिमिनल बैकग्राउंड के साथ की थी। 2001 में वे बच्ची लाल की हत्या से सुर्खियों में आए थे। उनकी पत्नी जागृति भी जेल की हवा खा चुकी हैं|

2004 के लोकसभा इलेक्शन में धनंजय सिंह लोक जन शक्ति पार्टी से उतरे थे।
– तब उनके हाथ में कुल 20 हजार रुपए कैश थे।
– उनकी संपत्ति भी महज 10 लाख रुपए थी।
– 2014 के लोकसभा इलेक्शन में धनंजय ने 4.35 करोड़ रुपए की संपत्ति शो की।
– इतनी संपत्ति बढ़ने के बावजूद इन्होंने कभी कोई कार नहीं खरीदी।
– 2013 में धनंजय की पत्नी जागृति सिंह पर नौकरानी की हत्या का आरोप लगा।
– उनके दिल्ली स्थित आवास पर नौकरानी छत से गिर गई थी।
– पुलिस ने हत्या के आरोप में जागृति को गिरफ्तार किया था।
– इसी केस में धनंजय पर सबूतों के साथ छेड़छाड़ के आरोप लगे थे।
 – धनंजय सिंह पर 2002 के विधान सभा चुनाव के दौरान 20 से ऊपर मुकदमे थे।
– 2004 के लोकसभा इलेक्शन में धनंजय ने 9 केस शो किए।
– 2007 के यूपी असेंबली इलेक्शन में क्रिमिनल केसों की संख्या घटकर 7 रह गई।
– 2009 में इन पर कुल 1 केस दर्ज था।
– 2014 में इन पर रेप और मर्डर समेत 4 केस दर्ज थे।
– 2013 में धनंजय पर एक 42 साल की महिला ने लगातार 4 साल रेप करने का आरोप लगाया था।
– दिसंबर 2014 में महिला ने आरोप वापस ले लिए और ये बरी हो गए।