देवरिया छात्र की सजगता से बड़ा ट्रेन हादसा होते-होते बचा

75
SHARE

देवरिया जिले में एक छात्र की सजगता से रविवार को बड़ा ट्रेन हादसा होते-होते बचा। टूटे हुए रेलवे ट्रैक को देख छात्र ने गेटमैन को समय रहते जानकारी दे दी। जिसके बाद ट्रैक से गुजर रही अप 3019 बाघ एक्सप्रेस को लाल झंडी दिखा रोक लिया गया। करीब घंटे भर बाद ट्रैक की मरम्मत कर ट्रेन को रवाना किया गया।

बरौनी-गोरखपुर अप ट्रैक भाटपाररानी रेलवे स्टेशन के सोहनपुर रेलवे क्रासिंग से करीब सौ मीटर पहले टूट गया था। उसी दौरान पटरी पकड़ भाटपाररानी की तरफ आ रहे कक्षा 10 के छात्र अभिषेक की नजर उस पर पड़ गई। तब तक ट्रेन की आवाज भी उसे सुनाई दी। इसके बाद उसने दौड़ लगा दी। हॉफते हुए वह गैटमैन मिथिलेश गौड़ के पास पहुंचा और पूरी बात उन्हें बताई। तब तक ट्रेन के आने का सिग्नल हो जाने से गेटमैन क्रासिंग बंद कर चुका था। इसके बाद दोनों हाथ में लाल झंडा लेकर ट्रेन की तरफ दौड़ पडे़। गैटमैन को लालझंडा दिखाते हुए देख ट्रेन के ड्राइवर ने ब्रेक लगा दिया। संयोग अच्छा था कि बाघ एक्सप्रेस को भाटपाररानी रेलवे स्टेशन पर रूकना था ऐसे में होम सिग्नल के पहले से ही ड्राइवर ने स्पीड कम कर रखी थी। बावजूद इसके रूकते-रूकते ट्रेन का इंजन और एक बोगी टूटे हुए रेलवे ट्रैक को पार कर चुका था। सूचना मिलने पर पहुंची रेलवे की इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट की टीम ने करीब घंटे भर के प्रयास के बाद ट्रैक की मरम्मत किया तो ट्रेन रवाना हुई।

ट्रेन हादसा बचाने वाला अभिषेक लुधियाना में पिता के साथ रहकर पढ़ता है। भाटपाररानी के कटाई टिकट गांव का रहने वाले उसके पिता जितेंद्र प्रसाद वहां एक प्राइवेट कंपनी में कर्मचारी हैं। अपने पिता के साथ अभिषेक 25 अप्रैल को बुआ की बेटी की शादी में शामिल होने के लिए गांव आया था। सोमवार को उसे लुधियाना वापस जाना था। घर के लिए कुछ जरूरी सामान खरीदने वह पैदल ही रेलवे ट्रैक के किनारे से भाटपाररानी आ रहा था, इसी दौरान उसकी नजर टूटी हुई पटरी पर पड़ गई।

‘‘16:59 बजे अप 3019 बाघ एक्सप्रेस के आने का सिग्नल हुआ था। इसी बीच गेटमैन को छात्र ने ट्रैक के टूटे होने की जानकारी दी, जिसके बाद लाल झंडी दिखा ट्रेन को रोक लिया गया। ट्रैक की मरम्मत के बाद 18:07 बजे ट्रेन रवाना हो गई। इस दौरान कोई अन्य ट्रेन प्रभावित नहीं हुई है।’’ -ब्रजेश कुमार, सहायक स्टेशन मास्टर भाटपाररानी

source- Hindustan