शहीद प्रेम सागर के गांव में विरोध प्रदर्शन, योगी आदित्यनाथ को बुलाने की मांग

75
SHARE

जम्मू के सांभा सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की बर्बर कार्रवाई में शहीद हुए बीएसएफ जवान देवरिया जनपद के टिकमपार निवासी प्रेम सागर का पार्थिव शव आज शाम देवरिया जिला मुख्यालय के पुलिस लाइन में लाए जाने की तैयारी पूरी कर ली गई है। अग्निशमन कर्मी हेलीपैड पर तैनात हो गए हैं। यहां से अधिकारी पुलिस लाइन से शहीद का पार्थिव शव उनके गांव ले जाएंगे।

देवरिया के भाटपाररानी क्षेत्र के टीकमपार गांव के शहीद प्रेमसगार के गांव में अभी तक किसी मंत्री, शासन के प्रतिनिधि या जिला स्तरीय अधिकारी के न पहुंचने पर जबरदस्त गुस्सा है। शहीद का पार्थिव शव अभी गांव नहीं पहुंचा है, लेकिन उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने आसपास के हजारों लोग गांव में पहुंच चुके हैं। यहां पर आधिकारियों की गैरमौजूदगी पर नाराजगी जताते हुए लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। गांव के बाहर चौराहे पर जाम लगाकर उन्होंने शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुलाने की मांग की। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि मुख्यमंत्री के आने पर ही वह लोग अंतिम संस्कार करना चाहते हैं।

देवरिया के प्रेम सागर कल भारत व पाकिस्तान की सीमा पर पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी में शहीद हो गए थे लेकिन आज तक उनके घर पर कोई जिला स्तरीय अधिकारी नहीं पहुंचा। केवल कल उपजिलाधिकारी और पुलिस उपाधीक्षक कुछ समय के लिए पहुंचे थे। इसे ग्रामीण आक्रोशित हो गए और गांव के सामने चौराहे पर मुख्य मार्ग जाम कर दिया। इस मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया। अब लोग योगी आदित्यनाथ को बुलाने की मांग कर रहे हैं।