कानपुर में महिलाओ ने पुलिस को भी नहीं छोड़ा, बरसाए पत्थर, ठेका जलाने का प्रयास, फाॅर्स तैनात

9
SHARE

उत्तर प्रदेश में शराब के ठेको पर रोज़ प्रर्दशन हो रहे है, बिहार के तर्ज पर यहाँ भी शराब की दुकाने बंद करने के लिए महिलाये घरो से निकल चुकी है| अब मुख़्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस पर क्या फैसला करते है ये तो आने वाले समय में ही पता होगा| कल कानपुर के कल्याणपुर में भीड़ ने शराब की दुकान पर खूब तोड़फोड़ की, साथ ही दुकान को जलाने का भी प्रयास  किया, हंगामा होने पर मौक़े पर आयी पुलिस के साथ भी मारपीट की गयी|

मसवानपुर चौराहे पर नवाबगंज निवासी संगम लाल शुक्ल का देसी शराब का ठेका चलते है, कल देर शाम 50 महिलाये लाठी डंडो के साथ दुकान पर पहुंची वहां जम के तोड़फोड़ की, महिलाओं ने कैंटीन संचालक और कर्मचारियों के साथ ग्राहकों को भी पीटा, गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की| जब सुचना पर पुलिस मौके पर पहुंचीं भीड़ ने नारेबाजी शुरू कर दी, और दुकान को जलाने का प्रयास किया| जिसके बाद पुलिस ने लाठी से भीड़ को रोकने का प्रयास किया, तो भीड़ ने पुलिस पर ही हमला बोल दिया| फोर्स के साथ सीओ कल्याणपुर संजीव दीक्षित व एसीएम छह कमलेश चंद्र बाजपेई पहुंच गए, भीड़ ने फोर्स को देखकर पहिए पथराव किया जिसके कारण इंस्पेक्टर देवेंद्र विक्रम सिंह, दारोगा रवि श्रीवास्तव व पंकज मिश्र और सिपाही रतिभान, राघवेंद्र व अनिल घायल हो गए और करीब दर्जनों लोग घायल हो गए है, इस घटना के बाद शराब की दुकान के बहार फाॅर्स लगा दी गयी है|