दिल्ली यूनिवर्सिटी में फिर लहराया एबीवीपी का परचम, अमित शाह और मनोज तिवारी यह बोले

59
SHARE

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में एक बार फिर से बीजेपी के छात्र संगठन एबीवीपी ने परचम लहराया है, संगठन ने अध्यक्ष समेत तीनों प्रमुख पदों पर जीत हासिल की है, वहीं कांग्रेस का छात्र संगठन एनएसयूआई भी अपनी लाज बचाते हुए सचिव का एक पद जीतने में कामयाब रहा लेकिन दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी के लिए यह चुनाव फिर से सदमा दे गया, पार्टी का छात्र संगठन छात्र युवा संघर्ष समिति अपना खाता तक नहीं खोल पाया।

एबीपीवी के अंकित बसोया दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष चुने गए हैं, जबकि शक्ति सिंह उपाध्यक्ष चुने गए। संयुक्त सचिव के पद पर एबीवीपी की ही ज्योति चौधरी को जीत मिली, जबकि सचिव का पद एनएसयूआई के खाते में गया, एनएसयूआई के आकाश चौधरी सचिव पद पर जीते और उन्होंने कांग्रेस समर्थित छात्र संगठन को डूसू दफ्तर में सम्मान के साथ जाने का मौका दिला दिया।

आम आदमी पार्टी के छात्र संगठन छात्र युवा संघर्ष समिति ने इस चुनाव में हिस्सा लेने के लिए सीपीआई-एमएल के छात्र संगठन आईसा के साथ गठबंधन किया था लेकिन यह गठबंधन भी उसके किसी काम नहीं आ सका। दिल्ली में ऐतिहासिक बहुमत से जीतने वाली पार्टी से जुड़े इस छात्र संगठन का खाता तक नहीं खुला, सभी सीटों पर इसे हार का मुंह देखना पड़ा।

छात्र संघ चुनाव में एबीवीपी की जीत पर बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने खुशी जताई है और सभी कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए लिखा है कि यह जीत न सिर्फ युवाओं में राष्ट्रवादी विचारधारा के प्रति आस्था की जीत है बल्कि यह विभाजनकारी और अवसरवादी राजनीति के विरुद्ध युवाओं का जनादेश भी है।

बीजेपी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी एबीवीपी की इस जीत के लिए संगठन को बधाई दी।